पीएम के मन की बात कहीं मौन की बात न बन जाए: शशि थरूर

पीएम के मन की बात कहीं मौन की बात न बन जाए

 

– पीएम मोदी के नाम शशि थरुर ने ट्विटर पर लिखा खत…

देहरादून। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद शशि थरूर ने पीएम मोदी के नाम पत्र लिख कर उन पर सीधा निशाना साधा है। शशि ने पत्र में लिखा कि, हमारा लोकतंत्र हमें किसी की आलोचना करने का अधिकार देता है। ऐसे में किसी की आलोचना को देशद्रोह की तरह देखना और ऐसा करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज करना गलत है।

 

 

इतिहासकार रामचंद्र गुहा, फिल्मकार अनुराग कश्यप समेत मॉब लिंचिंग पर सरकार को खत लिखने अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए जाने को लेकर कांग्रेेस नेता ने अपना खत ट्वीट कर प्रतिक्रिया रखी।

Advertisements

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक पुराने भाषण का हवाला देते हुए कहा कि, पीएम जी, आपने साल 2016 में यूएस कांग्रेस को संबोधित करते हुए भारत के संविधान को पवित्र किताब बताया था। आपने कहा था कि, भारत का संविधान सभी नागरिकों को स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति, भाषण और समानता का अधिकार देता है।

 

 

बता दें कि, अनुच्छेद 19(1) यानी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का जिक्र करते हुए शशि थरूर लिखते हैं कि, हर किसी को बोलने का अधिकार है, और सरकार को उस स्वतंत्रता का सम्मान करना चाहिए। देश के सभी लोग पीएम मोदी से अपेक्षा करते हैं कि, उनकी सरकार बोलने की आजादी का सम्मान करेगी।