देहरादून की हवा में दीवाली के पटाखों ने घोला जहर, एयर क्वालिटी इंडेक्स 200 के पार

देहरादून की हवा में दीवाली के पटाखों ने घोला जहर, एयर क्वालिटी इंडेक्स 200 के पार

 

देहरादून। दिपावली की रात उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया। दीपावली की रात लोगों ने दून की स्वच्छ माने जाने वाली आवोहवा में जमकर जहर घोला दिया। हर बार की तरह इस बार भी दिवाली के बाद हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ गया। कुछ जगहों पर प्रदूषण का स्तर सामान्य तो कहीं बेहद ज्यादा रहा। हालत ये थी कि, रात एयर क्वालिटी इंडेक्स 200 के पार पहुंच गया था।

 

बता दें कि, अन्य शहरों की अपेक्षा देहरादून को आज भी स्वच्छ आवोहवा के हिसाब से आइडियल माना जाता है. लेकिन दीपावली की रात हुई आतिशबाजी ने दून की हवाओं में जहर घोल दिया। हवा में पीएम 2.5 की मात्रा 60 माइक्रोग्राम और पीएम 10 की मात्रा 100 माइक्रोग्राम तक होने पर हवा को सांस लेने के लिए सुरक्षित माना जाता है। लेकिन दून घाटी में रविवार रात दस बजे तक इनकी मात्रा कई गुना बढ़ गई थी, यानि की दून की हवा सांस लेने के लिए खतरनाक हो चुकी थी।

Advertisements

 

पूरी दून घाटी में बिछी धुंध की चादर बताती है कि, पॉल्यूशन को लेकर चलाए जा रहे तमाम जागरूकता अभियानों को भी लोगों ने फेल कर दिया। आम नागरिक तो छोड़िए उत्तराखंड पाल्यूशन कंट्रोल बोर्ड खुद जैसे सोया हुआ है। बहरहाल दून घाटी में अगले कुछ दिनों तक पॉल्यूशन का असर देखने को मिल सकता है। ऐसे में बच्चों और खासकर दमा के मरीजों को सतर्क रहने की आवश्यकता है।