गजब: भींगराडा में बगैर डॉक्टर के संचालित उपकेन्द्र। जनता परेशान

भींगराडा में बगैर डॉक्टर के संचालित उपकेन्द्र। जनता परेशान

– डॉक्टर को रीठासाहिब किया गया है अटैच

रिपोर्ट- सूरज लडवाल
चम्पावत। विकासखंड के घाटी क्षेत्र की स्वास्थ्य व्यवस्थाएं अक्सर पटरी से उतरती रहती हैं। विकासखंड के दूरस्थ क्षेत्र के लोगों को स्वास्थ लाभ देने के लिए संचालित उपकेन्द्र भींगराडा के डॉक्टर को व्यवस्था के तौर पर चौड़ामेहता भेज दिया गया है और उपकेन्द्र के फार्मासिस्ट अभी-अभी पूर्णागिरि ड्यूटी से लौटे हैं, तो एक हफ्ते तक अवकाश में हैं।

जिसके बाद अब अस्पताल एकमात्र एएनएम के सहारे चल रहा है। गुरुवार को क्षेत्रीय लोगों ने विरोध जताते हुए शीघ्र नियमित डॉक्टर की व्यवस्था करने की मांग की है। प्रदर्शन करने वालों में उमेश चंद्र भट्ट, रमेश चंद्र भट्ट, दीपक चंद्र भट्ट, हरीश चंद्र भट्ट, गिरीश चंद्र भट्ट, सुरेश चंद्र, देवीदत्त, रमेश चंद्र, गौरव, भगीरथ, रेवाधर आदि शामिल रहे।

Advertisements

बताते चलें कि, इस उपकेन्द्र में टाकखंदक, बिरगुल, भींगराडा, गड्यूडा, मडयोली सहित तमाम गाँवों के मरीज ईलाज के लिए आते हैं।

उपकेन्द्र के डॉक्टर को व्यवस्था के रूप में चौड़ामेहता भेजा गया है। फार्मासिस्ट पूर्णागिरि ड्यूटी से लौट चुके हैं और अभी फिलहाल छुट्टी में हैं। तब तक के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है। शीघ्र ही उपकेन्द्र में डॉक्टर की व्यवस्था की जायेगी। क्षेत्रीय लोगों की स्वास्थ्य संबंधी समस्या का समाधान करने के लिए हर संभव प्रयास किए जायेंगे- डॉ अग्रवाल, सीएमओ चम्पावत