Exclusive: कांग्रेस ने विधानसभा सत्र के बहाने सरकार पर साधा निशाना

कांग्रेस ने विधानसभा सत्र के बहाने सरकार पर साधा निशाना

 

देहरादून। कांग्रेस मुख्यालय में संयुक्त पत्रकारवार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें उप नेता प्रतिपक्ष करन माहरा और पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला। साथ ही उत्तराखंड विधानसभा के बजट सत्र की छोटी अवधि को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए करण माहरा ने कहा कि, राज्य सरकार सवालों से बचने के लिए सत्र की अवधि को बढ़ा नहीं रही है। सत्र की अवधि को बढ़ाया जाना चाहिए कम से कम 20 दिनों तक सत्र को चलाया जाना चाहिए।

वहीं प्रकाश जोशी ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि, अगर सरकार ने सत्र की अवधि को नहीं बढ़ाया तो कांग्रेस इसके लिए आंदोलन करेगी। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी ने आज विधानसभा सत्र बढाने की माँग को लेकर सरकार की कई मुद्दों पर घेराबंदी की। उन्होंने कहा कि, देश के हर राज्य में 15 से 20 दिन के सत्र होते हैं। उत्तराखंड में अब तक के इतिहास में अधिकतर सिर्फ 10 से 12 दिन का ही सत्र हो पाया है। प्रदेश की समस्याओं के लिए विधान सभा सत्र का कम समय रखा गया है और प्राधिकरण बनने से लोगो को खासा परेशानी हो रही है। पूर्व कांग्रेस सरकार ने 15 कालेज की अनुमति दी थी, वर्तमान सरकार ने सभी का निरस्तीकरण कर दिया है। स्वास्थ व रोजगार के हाल बेहाल हो चुका है। इसलिए विधानसभा सत्र बढाने की मांग की गयी।

Advertisements

जबकि सरकार ने सिर्फ एक दिन बढाया है। कांग्रेस की मांग कम से कम सत्र 15 दिन का होना चाहिए। सभी 70 विधायकों से अपील कि वो अपने छेत्र की समस्याओं के लिए सरकार से समय मांगे। कांग्रेस ने फारेस्ट भर्ती घोटाले पर मुख्यमंत्री के बयान को भी दुर्भाग्यपूर्ण बताया। पटवारी और डीएम के लोग पहाड़ो में अवैध वसूली कर रहे हैं। पिछले 10 साल में एक बार सोमवार को प्रश्न काल बुलाया गया है। सोमवार को मुख्यमंत्री प्रश्नकाल में जवाब देते हैं। वर्तमान मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र के पास सबसे ज्यादा विभाग है। इसीलिए मुख्यमंत्री सवालो के जवाब देने से बच रहे हैं। पूर्व में मुख्यमंत्री औऱ उनके ओसडी की स्टिंग की पेन ड्राइव विधान सभा मे दी गयी थी, जिसके लिए सरकार ने आज तक जांच की कोई कमेटी गठित नही की है। कांग्रेस ने जमीनों से सम्बंधित स्टिंग को सार्वजनिक किया था।

वहीं नेता प्रतिपक्ष पर भी नारजगी जाहिर करते हुऐ कहा कि, नेता प्रतिपक्ष की तरफ से अभी तक सदन को बढाने की कोई बात सरकार से नही की। कल से कांग्रेस सदन को बढाने की मांग को लेकर 70 विधानसभा के कांग्रेसी कार्यकर्ता अपने विधायको से मिलकर सत्र बढाने की माँग अपने विधायकों से करेंगे। माँग ना माने जाने पर विधानसभा के बाहर भी धरना दिया जाएगा। पहले जिलाधिकारियों के माध्यम से सरकार के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। इसके बाद गैरसैण में धरना प्रदर्शन दिया जाएगा।