महिला को प्रेमजाल में फंसाकर लाखों ठगने वाला पुलिस की गिरफ्त में

महिला को प्रेमजाल में फंसाकर लाखों ठगने वाला पुलिस की गिरफ्त में

 

देहरादून। सोशल साइट्स लोगों को एक दूसरे से जोड़ती हैं।लेकिन वही कई लोगों के लिए मुसीबत भी बन जाती हैं। अनजान लोगों से जुड़कर उन पर अंध भारोसा करना गलत है। ऐसे ही एक मामले में सोशल साइट्स पर देहरादून की एक महिला को शादी का झांसा देकर लाखों रुपये की ठगी करने वाले को उत्तराखंड पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

शिकायतकर्ता महिला विगत माह 31 जनवरी को महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था अशोक कुमार से उनके कार्यालय में मिली। महिला ने उन्हें बताया कि, मनीष गुप्ता निवासी पश्चिम विहार (नई दिल्ली) हाल निवासी राजीव नगर, गुरुग्राम ने उसे शादी का झांसा देकर लाखों रूपये ठग लिये हैं। महिला ने बीती आठ जनवरी को कैंट थाने में उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, परंतु अभी तक मनीष गुप्ता की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस महानिदेशक कुमार द्वारा मामले का संज्ञान लेते हुए एसएसपी अरूण मोहन जोशी, देहरादून को पीड़ित की शिकायत की जांच कराकर, तथ्य सही पाये जाने पर पीड़ित को न्याय दिलाने हेतु निर्देशित किया।

एसएसपी देहरादून के निर्देश पर प्रभारी कैंट कोतवाली के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने कल गुरूवार 06 फरवरी को अभियुक्त मनीष गुप्ता को गिरफ्तार कर उसके पास से महिला से ठगी कर खरीदी गई कार, महिला के दो एटीएम कार्ड, आधार कार्ड और अन्य पीड़ितों के आधार कार्ड व एटीएम कार्ड बरामद किए हैैं। आरोपित धोखाधड़ी के मामले में दिल्ली में भी जेल जा चुका है।

Advertisements

शिकायतकर्ता महिला ने यह भी बताया था कि, मनीष से उसकी जान-पहचान दो माह पहले एक मेट्रीमोनियल साइट पर हुई। उसने खुद को स्टील कारोबारी बताकर महिला से दोस्ती कर ली। बीते वर्ष नौ नवंबर को वह महिला का जन्मदिन मनाने के बहाने देहरादून में उसके घर पहुंचा और फिर उसे मसूरी घुमाने ले गया। वहां एक होटल में आरोपित ने शादी का झांसा देकर महिला के साथ दुष्कर्म किया और करीब एक लाख रुपये का मोबाइल ठग लिया।

इसके बाद वह शादी की तैयारी करने की बात कहकर नोएडा चला गया। वहां पहुंचकर उसने महिला से शादी की ज्वेलरी खरीदने के लिए पांच लाख रुपये मांगे। इन्कार करने पर आरोपित ने फोटो और वीडियो वायरल करने की धमकी दी। इस तरह उसने महिला से कई बार में करीब 10 लाख रुपये ठग लिए। इसके बाद मनीष ने उसे सोशल साइट पर ब्लॉक करने के साथ ही बातचीत भी बंद कर दी।