सरकार आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की मांगों को पूरा करने के बजाए कर रही उनका उत्पीड़न: नेगी

Raghunath singh negi

सरकार आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की मांगों को पूरा करने के बजाए कर रही उनका उत्पीड़न

 

– आंगनबाड़ी कर्मियों की मांगों को लेकर मोर्चा ने किया तहसील घेराव

देहरादून। विकासनगर स्तिथ जन संघर्ष मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने आंगनबाडी कार्यकत्रियों, सेविकाओं एवं मिनी कर्मचारियों की मांगों को लेकर मोर्चा अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी के नेतृत्व में तहसील घेराव कर महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन विकासनगर एसडीएम सौरभ असवाल को सौंपा।

उल्लेखनीय है कि इन कार्यकत्रियों, सेविकाओं, मिनी आंगनबाड़ी कर्मचारी को क्रमशः 7500, 3500 व 2750 रूपये लगभग प्रतिमाह मानदेय दिया जा रहा है, जबकि इनसे कई प्रकार के कार्य यथा आंगनबाडी केन्द्रों का संचालन, बीएलओ, मतगणना, पोलियो, गर्भवती महिलाओं से सम्बन्धित आदि तमाम कार्य लिए जा रहे हैं। जो कि इनके लिए जा रहे कार्यों के सापेक्ष मानदेय नाकाफी है। उक्त लिए जा रहे कार्यों की अधिकता के चलते ये कुछ अन्य कार्य भी नहीं कर पाती। उक्त सरकारी व्यस्तता एवं कम मानदेय के कारण इनकी आर्थिक स्थिति दयनीय है।

इस प्रकरण में रघुनाथ ने कहा कि, प्रदेश भर की हजारों आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, सेविकाऐं व मिनी आंगनबाडी कर्मचारी अपने मानदेय व अन्य मांगों को लेकर आन्दोलित हैं। लेकिन गैर अनुभवी सरकार ने इनकी मांगों को पूरा करना तो दूर इनका उत्पीड़न करना शुरू कर दिया है। जो कि लोकतांत्रिक व्यवस्था के खिलाफ है।

मोर्चा अध्यक्ष ने यह भी कहा कि, अति महत्वपूर्ण बात यह है कि, आंगनबाडी कार्यकत्रियों, सेविकाओं एवं मिनी कर्मचारी अपना मानदेय 18,000 रु प्रतिमाह या समान कार्य समान वेतन यथासम्भव जोे भी हो, पदोन्नति, आय सीमा, यात्रा भत्ता व मोबाईल खराब होने व गुम होने की दशा में वसूली न हो पाने विषयक तमाम मांगों को लेकर आन्दोलित हैं।

Advertisements

जो कि काफी गम्भीर प्रवृत्ति की हैं, तथा सरकार द्वारा स्वीकार किये जाने योग्य हैं। सरकार इनकी मांगों पर गम्भीरतापूर्वक विचार कर सकती थी, लेकिन सरकार ने आँखे मूंद रखी हैं। उक्त आंगनवाडी कर्मचारियों, सेविकाओं आदि ने भिन्न-भिन्न माध्यमों से अपनी मांगों से सम्बन्धित ज्ञापन सरकार तक प्रेषित किये जा चुके हैं।

आज तहसील घेराव में रघुनाथ सिंह नेगी, विजयराम शर्मा, ओपी राणा, संध्या नेगी, ऊषा शाह, अंजुल गुप्ता, रूचि डोगरा, नन्दिनी, सुषमा राणा, शीला चैहान, शशि नवानी, एंजल मेरी, हीना कौसर, जयपाल सिंह, विक्रमपाल, मनोज चैहान, नारायण सिंह चौहान ,इसरार अहमद, गय्यूर, टीकाराम उनियाल, विक्रम पाल, अमन चौधरी, रूपचंद, फरहाद आलम, गय्यूर, सन्दीप ध्यानी, नरगिश बानो, शालिनी चमोली, रामेश्वरी, बरखा, विनोद गोस्वामी,

प्रवीण शर्मा पीन्नी, सुमन प्रधान, सुशील भारद्वाज, अनिल तोमर, रियासत अली, प्रदीप कुमार, अंकुर चैरसिया, विरेन्द्र सिंह, आशीष सिंह, फराद आलम, किशन पासवान, अशोक डण्डरियाल, दिनेश राणा, गुरविन्दर सिंह, एम0 अन्सारी, इदरीश, सचिन कुमार, मामराज, जाबिर हसन, जयन्त चैहान, गजपाल रावत, टीकाराम उनियाल, सचिन शर्मा, मोहम्मद आरिफ, सचिन शर्मा , अंकुर चौरसिया, प्रदीप कुमार, जगदीश रावत आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।