आरोपी चिकित्सक ने जेल से छूटने के बाद सील अस्पताल को खोल किया इलाज शुरू

आरोपी चिकित्सक ने जेल से छूटने के बाद सील अस्पताल को खोल किया इलाज शुरू

 

सैय्यद सरावा के इस अस्पताल में मरीज की मौत पर जेल भेजे गए चिकित्सक का कारनामा

कौशांबी। चायल तहसील अंतर्गत चरवा थाना क्षेत्र के सैय्यद सरावा चौराहे पर बिना डिग्री के कथित एक चिकित्सक द्वारा नर्सिंग होम का संचालन किया जा रहा था, इस समय इस चिकित्सक के तीन अस्पताल बिना रजिस्ट्रेशन चल रहे है।और चिकित्सा की डिग्री भी नही है। इस अस्पताल में इलाज के दौरान मरीज की मौत की जानकारी मिलने पर मौके पर तत्कालीन मुख्य चिकित्सा अधिकारी पहुंचे थे, और गलत तरीके से चल रहे पाल क्लीनिक सैय्यद सरावा के इस अस्पताल को सीज करने के बाद कथित चिकित्सक को जेल भेज दिया था।

 

कई महीने बाद कथित चिकित्सक की अदालत से जमानत हो गई, लेकिन अस्पताल की सील स्वास्थ्य विभाग ने नहीं खोली अस्पताल में बन्द सरकारी ताला तोड़कर कथित चिकित्सक ने फिर नर्सिंग होम को खोलकर इलाज करना शुरू कर दिया है। अभिलेखों में यह अस्पताल आज भी सील है।

Advertisements

 

इस अस्पताल में प्रत्येक सप्ताह सैकड़ों मरीजों का इलाज बिना डिग्री के आरोपी चिकित्सक द्वारा खुलेआम किया जा रहा है। इस बात की जानकारी से स्वास्थ्य विभाग बेखबर है या फिर जानबूझकर स्वास्थ्य विभाग आरोपी चिकित्सक पर रहमों करम बनाए हुए हैं।

 

जिस अस्पताल को स्वास्थ्य विभाग ने सीज किया था, उसी चिकित्सक का दूसरा भाई भी बिना डिग्री के सैयद सरावा में एक और अस्पताल खोल चुका है। इसी का एक अस्पताल मनौरी बाजार के रेलवे फाटक के पास भी संचालित हो रहा है, बिना डिग्री बिना अनुभव इलाज में मरीजों को मौत देने वाले कथित चिकित्सको पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी क्यों मेहरबान है, और सीज अस्पताल के फिर से खुलने के मामले में शासन ने जांच कराई तो मुख्य चिकित्सा अधिकारी की कलई खुलना तय हैं।