मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना गरीबों के लिए हो रही वरदान साबित: उप मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना गरीबों के लिए हो रही वरदान साबित

 

– आयोजित कार्यक्रम में 20 मुस्लिम जोड़ो सहित कुल 610 जोड़े बधें विवाह बन्धन में….

– 797 करोड़ रूपये की लागत से प्रयागराज से कौशाम्बी के लिए भव्य एवं मजबूत सड़क का होगा निर्माण….

कौशाम्बी। मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अन्तर्गत बृहस्पतिवार को नवीन मण्डी ओसा में सामूहिक विवाह कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया गया। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य प्रभारी मंत्री चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय तथा विधायकगण कार्यक्रम में पहुंचकर नव विवाहित जोड़ो को अपना आर्शीवाद प्रदान किया।

बत दें कि, आयोजित कार्यक्रम में सम्बन्धित धर्मो के रीति रिवाजों के अनुसार विवाह कार्यक्रम संपन्न हुआ। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत आयोजित कार्यक्रम में 20 मुस्लिम जोड़ों सहित कुल 610 जोडे विवाह बंधन में बधें। आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्य अतिथि के रूप में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मुख्यमंत्री की यह योजना गरीब एवं असहाय परिवारों के लिए वरदान साबित हो रही है। गरीब परिवार की लड़कियों की शादी की जिम्मेदारी अब सरकार स्वयं अपने हाथों में ली है।

 

उन्होने कहा कि 610 जोड़ो का एक साथ विवाह होना बहुत बड़ी बात है। उन्होने कहा कि इससे अच्छा आनन्द दायक अवसर और कोई नहीं हो सकता। केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत अब तक पूरे प्रदेश में 71 हजार जोड़ो की शादी संपन्न हो चुकी है। उन्होने कहा कि, आज 14 नवम्बर को पूरे प्रदेश में यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है जिसके तहत पूरे प्रदेश में आज के दिन 21 हजार जोड़ो के विवाह का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि, कौशाम्बी जैसे छोटे जनपद में 600 से अधिक सामूहिक विवाह होना बहुत ही शुभदायक है। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री ने 07 विवाहित जोड़ो को अपने हाथों से मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का प्रमाण पत्र भी प्रदान किया। आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रयागराज से कौशाम्बी तक के लिए 797 करोड़ रूपये की लागत से भब्य एवं मजबूत सड़क का निर्माण कराया जायेगा। उन्होने कहा कि सड़क की गुणवत्ता ऐसी होगी कि पीढि़या गुजर जायेंगी लेकिन सड़क पर खरोच तक नहीं आयेगी। उन्हानें कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार प्रतिक्षण गरीब एवं असहाय लोगों के साथ कन्धे से कन्धा मिलाकर खड़ी हुई है। सरकार के द्वारा गरीबों के कल्याण के लिए अन्य योजनायें भी संचालित की जा रही है जिससे गरीब और असहाय पात्र व्यक्ति लाभान्वित हो रहे है।

Advertisements

 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि, केन्द्र एवं राज्य की सरकार गांव गरीब किसान नौजवान एवं महिलाओं की उन्नति एवं सम्मान के लिए कृत संकल्प है। उन्होने कहा कि सरकार के द्वारा किसानों की स्थिति की बेहतरी के लिए प्रधनमंत्री किसान सम्मान निधि योजना चालू की गयी है जिसके तहत 2000 रूपये प्रति तिमाही की दर से प्रतिवर्ष सभी किसानों के खाते में 6000 रूपये दिया जा रहा है। गांव-गांव एवं घर-घर में विद्युत कनेक्शन मुहैया कराया जा रहा है। प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नेतृत्व में चल रहे स्वच्छता कार्यक्रम के तहत घर.घर शौचालय का निर्माण कार्य कराया गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री की इच्छा के अनुरूप प्रत्येक गरीब पात्र परिवारों को पक्का मकान उपलब्ध कराया जा रहा है। जिनके पास भी कच्चा मकान है तथा वे पात्रता की श्रेणी में आते है ऐसे सभी लोगों को सरकार के द्वारा पक्का मकान उपलब्ध कराये जाने की योजना संचालित है।

 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि, गरीबों के लिए उज्जला योजना चलायी गयी है जिसके तहत गरीब लोगों को निःशुल्क गैस कनेक्शन दिया जा रहा है। उन्होने कहा कि सरकार के द्वारा पूरे प्रदेश में सडकों का जाल बिछाया जा रहा है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र एंव प्रदेश की सरकार सबका साथ सबका विकास सिद्धान्त पर कार्य करते हुए गरीब लोगों को योजनाओं से समान रूप से लाभान्वित करा रही है। उन्होने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत सरकार के द्वारा गरीबों के लिए 5 लाख रूपये तक की निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधायें मुहया करायी जा रही है।

 

इस अवसर पर प्रभारी मंत्री चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय ने सभी विवाहित जोडो को अपना आर्शीवाद प्रदान करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की यह बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है जिसके तहत गरीब परिवार की लड़कियां की शादी की जिम्मेदारी सरकार स्वयं उठा रही है। उन्होने कहा कि अब गरीब लोगों को लड़कियों के जन्म लेने पर किसी भी प्रकार की चिन्ता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि सरकार कन्या सुमंगला योजना के तहत लड़कियां की शिक्षा के लिए एवं मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत लड़कियों के विवाह की जिम्मेदारी कां निर्वहन स्वयं कर रही है।

 

उन्होने कहा कि, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना गरीब परिवारों के लिए मील का पत्थर साबित हो रही है। इस अवसर पर विधायक मंझनपुर लाल बहादुर विधायक चायल संजय गुप्ता और विधायक सिराथू शीतला प्रसाद उर्फ पप्पू पटेल ने भी मण्डप में मौजूद सभी जोड़ों को आर्शीवाद देते हुए मुख्यमंत्री की इस सामूहिक विवाह योजना की भूरि.भूरि प्रशंसा की। विधायकगणों ने अपने उद्बोधन में कहा कि यह योजना गरीब एवं असहाय परिवारो के लिए बहुत ही लाभदायी सिद्ध हुई है।

 

इस अवसर पर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना के अन्तर्गत सरकार के द्वारा प्रति जोड़े पर 51000 रूपये खर्च करने का प्रावधान किया गया है।जिसमें से 35000 पैंतीस हजार रूपये कन्या के खाते में अंतरित किये जाने का प्रावधान हैं। वैवाहिक जोड़ो को सामग्री के रूप में कपडे़ विछिया पायल वर्तन सहित अन्य सामग्री हेतु 10000 दस हजार रूपये एवं विवाह आयोजन पर प्रति जोड़े पर 6000 छः हजार रूपये खर्च किये जाने का प्रावधान है। उन्होने कहा कि, इस योजना के तहत लाभार्थियों की कोई सीमा नहीं है।

 

उन्होने कहा कि इसके अलावा भी यदि कोई पात्रता की श्रेणी में आता है तो वह समाज कल्याण विभाग की बेवसाइट पर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकता है और उसे भी इस योजना से लाभान्वित कराया जायेगा। इस अवसर पर अन्य जनप्रतिनिधिगणों के अलावा पुलिस अधीक्षक अभिनन्दन, मुख्य विकास अधिकारी इन्द्रसेन सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 पीएन चतुर्वेदी, समाज कल्याण अधिकारी सुधीर गुप्ता, सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी गणों के अलावा विवाहित जोड़े एवं भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे।