Breaking: बॉर्डर ब्लॉक के चार गांव खाली, रक्षा एजेंसी सहित सरकार की बढ़ी चिंता

बॉर्डर ब्लॉक के चार गांव खाली, रक्षा एजेंसी सहित सरकार की बढ़ी चिंता

 

देहरादून। प्रदेश उत्तराखण्ड में एक ओर पंचायत चुनाव का बिगुल बज चुका है, दूसरी ओर प्रदेश के बॉर्डर ब्लॉक में लोग पलायन कर रहे हैं। इस क्षेत्र में घटती आबादी ने सुरक्षा एजेंसियों की चिंता बढ़ा दी है। क्योंकि, खाली होने वाले चारों ब्लॉक चीन बॉर्डर से लगते हुए हैं, जिस कारण अब त्रिवेन्द्र सरकार एक्शन प्लान तैयार कर रही है।

 

– चार गाँव हुए खाली, सरकार की बड़ी चिंता….

Advertisements

बताते चलें कि, उक्त प्रकरण में पलायन आयोग के उपाध्यक्ष एसएस नेगी का कहना है कि, उत्तराखण्ड के 4 ब्लॉक भटवाड़ी, जोशीमठ, मुनस्यारी और धारचूला में गांव खाली हो रहे हैं। जिसे लेकर हाल ही में दिल्ली में पलायन आयोग की बैठक भी हुई थी। फिलहाल सरकार इसे लेकर एक्शन प्लान तैयार कर रही है। वहीं रक्षा विशेषज्ञ कर्नल एनएस बिष्ट का कहना है कि, हालात को देखते हुए बॉर्डर के गांवों में सड़क और मोबाइल नेटवर्क दुरुस्त करना होगा, ताकि लोग वहां पर रहें न की पलायन करें।

 

 

उक्त मामले पर उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का कहना है कि, बॉर्डर के गांव में पलायन रोकने के पूरे प्रयास फिलहाल सरकार कर रही है। चीन की गतिविधियों से भारत अच्छी तरह वाकिफ है। इसलिए उत्तराखण्ड के बॉर्डर ब्लॉक को सुरक्षित करने की चिंता दिल्ली से लेकर देहरादून तक है। जिसके एक्शन प्लान पर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।