उत्तराखण्ड में लगेगा अपराधों पर अंकुश एसटीएफ द्वारा तैयार किया गया प्रतिबिंब सॉफ्टवेयर

उत्तराखण्ड में लगेगा अपराधों पर अंकुश एसटीएफ द्वारा तैयार किया गया प्रतिबिंब सॉफ्टवेयर

 

देहरादून। उत्तराखण्ड राज्य में होने वाले अपराधों पर अंकुश लगाए जाने के उद्देश्य से एसटीएफ उत्तराखण्ड द्वारा Face Recognition Software (प्रतिबिंब सॉफ्टवेयर) तैयार किया गया है। इस हेतु पूर्व में भी समस्त जनपदीय थानाध्यक्षों की आईडी तैयार करते हुए इस सॉफ्टवेयर से संबंधित उपकरण उत्तराखण्ड राज्य के प्रत्येक जनपद को उपलब्ध कराए गए हैं।

 

बता दें कि, आज दिनांक- 17 सितंबर 2019 को पुलिस कार्यालय रुद्रप्रयाग में प्रभारी डीसीआरबी सुषमा रावत द्वारा सभी थानों के कर्मचारियों को इस सॉफ्टवेयर से संबंधित आवश्यक जानकारी दी गई। साथ ही इस सॉफ्टवेयर को प्रयोग किए जाने के संबंध में आवश्यक प्रशिक्षण भी दिया गया।

Advertisements

 

 

आगामी भविष्य में इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से किसी भी प्रकार के अपराधियों के आपराधिक इतिहास का आसानी से पता चल सकेगा। साथ ही यह भी स्पष्ट हो सकेगा कि, इससे पूर्व संबंधित अभियुक्त कितने अपराधों में संलिप्त था।

 

 

इस सॉफ्टवेयर के द्वारा किसी भी प्रकार के अपराध को कारित करने वाले अपराधी के चेहरे के प्रत्येक एंगल से तस्वीरें ली जाएगी व फिंगरप्रिंट भी लिया जाएगा। जिसे इस सॉफ्टवेयर में संरक्षित रखकर भविष्य में होने वाले अपराधों के सापेक्ष मिलान किया जा सकेगा। इस सॉफ्टवेयर के आने से निकट भविष्य में अपराधियों तक पहुंचने में काफी हद तक आसानी रहेगी।