एसजीआरआर विश्वविद्यालय में स्पोर्ट्स कोटे की 10 सीटें आरक्षित

एसजीआरआर विश्वविद्यालय में स्पोर्टस्  कोटे के लिए 10 प्रतिशत सीटें आरक्षित

 

स्कूल स्तर, ब्लाॅक स्तर, जिला स्तरीय, राज्य स्तरीय व राष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेता खिलाडियों के लिए ट्यूशन फीस में 10 से 50 प्रतिशत की छूुट  नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पटियाला(एन0आई0एस0) के कोच एसजीआरआर विश्वविद्यालय के ऐसे खिलाडियों को करेंगे तैयार।

 

विश्वविद्यालय के पास खेलों के लिए पर्याप्त मैदान, प्रबन्धन ने तैयार किया रोडमैप राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचाने के लिए खिलाडियों को कराई जाएगी तैयारी एसजीआरआर के कई पूर्व छात्र-छात्राओं ने राष्ट्रीय स्तर की खेलकूद प्रतियोगितओं में किया है। प्रतिभाग

 

 

देहरादून। उत्तराखण्ड में खेल व खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने एक अनूठी पहल की है। वर्तमान सत्र से एसजीआरआर विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने वाले स्पोर्ट्स कोटे के छात्र-छात्राओं के लिए 10 प्रतिशत सीटें आरक्षित कर दी गई हैं। वहीं स्पोर्ट्स कोटे में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं को सामान्य छात्रों की तुलना में 10 से 50 प्रतिशत ट्यूशन फीस में छूट दी जाएगी। स्पोर्ट्स का लाभ उन छात्र-छात्रा खिलाड़ियों को ही मिल पाएगा। जिन्होंने स्कूल स्तर पर, ब्लाॅक स्तर पर, जिला स्तरीय, राज्य स्तरीय या राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतिस्पर्धा में पदक जीता हो। ऐसे खिलाड़ी प्रधानाचार्य व अन्य सम्बन्धित अधिकारी का प्रमाण पत्र दिखाकर छूट का लाभ ले पाएंगे। यह जानकारी विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ पीताम्बर प्रसाद ध्यानी ने दी।

Advertisements

 

उत्तराखण्ड में खेल व खिलाडियों की अपार सम्भावनाएं को देखते हुए एसजीआरआर विश्वविद्यालय इस सत्र खिलाड़ियों के लिए लीग से हटकर कुछ अलग करने जा रहा है। विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने एथलेटिक्स, तीरंदाजी, मुक्केबाजी, बास्केटबाॅल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, फुटबाॅल, क्रिकेट, जिमनेस्टिक, हाॅकी, कराटे, शूटिंग, हैंडबाॅल, जूड़ो, ताइक्वांडो, टेनिस, वाॅलीबाॅल, रेसलिंग आदि खेलों के लिए पर्याप्त खेल मैदान तैयार करवा रहा है व साथ ही इन खेलों के खिलाड़ियों को बेहतर कोचिंग देने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ स्पोर्ट्स पटियाला से कोच हायर किए जा रहे हैं।

 

अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के खेल मैदान बनाने के लिए एसजीआरआर विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने कई नामचीन संस्थानों के साथ राय विमर्श किया है। इस मुहिम के पीछे एसजीआरआर विश्वविद्यालय प्रबन्धन की यह मंशा है कि मेधावी खिलाड़ि़यों को बेहतर से बेहतर अवसर उपलब्ध कराए जाएं ताकि ऐसे खिलाड़ी राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा सकें।

 

एसजीआरआर प्रबन्धन के पास देहरादून में बड़े-बड़े मैदान उपलब्ध हैं। इन संसाधनों का सकारात्मक उपयोग कर खेल व खिलाड़ियों के लिए बेहतर सम्भावनाएॅ तलाशी गई हैं। एसजीआरआर प्रबन्धन ने अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप खेलकूद के मैदानों को तैयार करने के लिए एक कार्य योजना तैयार की है। यहां पर खिलाड़ियों को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं व कोचिंग मिल पाएगी। एसजीआरआर विश्वविद्यालय प्रबन्धन का यह प्रयास रहेगा कि खिलाड़ियों को खेल के लिए अच्छे से अच्छे मैदान, नेशनल इंस्टीट्यूट

 

ऑफ स्पोर्ट्स पटियाला के कोच व बेहतर से बेहतर खेलकूद सामग्री उपलब्ध कराई जाए। आप जल्द ही देखेंगे कि एसजीआरआर विश्वविद्यालय खिलाड़ियों को एक ऐसा मंच उपलब्ध कराएगा जहां से खिलाड़ी प्रशिक्षण लेकर राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्तराखण्ड की प्रतिभा का लोहा मनवाएंगे।