गुड़ न्यूज़: रुड़की के इस गांव की बेटी बनी आईएएस, बधाई देने वालों का लगा तांता

रुड़की के इस गांव की बेटी बनी आईएएस, बधाई देने वालों का लगा तांता

रिपोर्ट- सलमान मलिक
रूड़की। कहते हैं मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है भगवानपुर के मोहितपुर गांव की सदफ चौधरी ने, जो हाल में रूड़की की ग्रीन पार्क कॉलोनी में रहती है।

सदफ ने यूपीएससी परीक्षा में 23 वी रैंक हासिल की है। जिसके बाद परिवार में खुशी का माहौल है। वही सदफ चौधरी का कहना है कि, उसने अपने घर पर ही पढ़ाई कर दो साल की कड़ी महेनत के बाद ये मुकाम हासिल किया है।

यूपीएससी की परीक्षा में 23 वी रैंक हासिल करने वाली शिक्षानगरी रूड़की की सदफ चौधरी को मुबारकबाद देने वालो का तांता लगा हुआ है। रुड़की की बेटी ने आईएएस बनकर पूरी शिक्षानगरी का नाम रोशन किया है। इस कामयाबी पर हर कोई सदफ चौधरी को शाबाशी देने उनके घर पहुँच रहा है।

रुड़की के ग्रीन पार्क कॉलोनी में रहने वाले मोहम्मद इसरार की बड़ी बेटी सदफ चौधरी ने यूपीएससी एग्जाम में 23 वी रैंक हासिल कर शिक्षानगरी रुड़की का नाम रोशन किया है।

Advertisements

ऑल इंडिया में यूपीएससी की परीक्षा में 23 वी रैंक हासिल करने वाली सदफ चौधरी के पिता प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक, नागल शाखा देवबंद में मैनेजर के पद पर कार्यरत है। सदफ अपने पिता मोहम्मद इसरार, माता शाहबाज बानो, बहन सायमा व भाई मोहम्मद साद के साथ रहती हैं।

आईएएस सदफ चौधरी ने खास बातचीत में बताया कि, ये मुकाम उनको माता-पिता के आशीर्वाद से मिला है। सदफ इस कामयाबी का श्रेय अपने माता पिता को देती है।

सदफ ने बताया कि, ये मुकाम उसने कड़ी मेहनत कर हासिल किया है। एनआईसी जालंधर से बीटेक करने के बाद घर पर ही उन्होंने कड़ी मेहनत की और ये मुकाम हासिल किया। फिलहाल सदफ चौधरी के घर मुबारकबाद देने वालो का तांता लगा हुआ है।