देशव्यापी लाॅकडाऊन जरूरी पर गरीब वर्गों का विशेष ध्यान रखे सरकार: पिरशाली

देशव्यापी लाॅकडाऊन जरूरी पर गरीब वर्गों का विशेष ध्यान रखे सरकार

 

देहरादून। उत्तराखंड आम आदमी पार्टी की प्रदेश संचालन समिति के पूर्व अध्यक्ष नवीन पिरशाली ने देशव्यापी लाॅकडाऊन को जरूरी कदम बताते हुए कहा कि, दुनियाभर से आ रही कोरोना की भयावह तस्वीरों को देखते हुए हमारी सरकार ने समय पर लॉक डाउन का फैसला लेकर एक सराहनीय कदम उठाया है। जो इस वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना की रोकथाम में मददगार सिद्ध होगा। इस समय सभी राज्यों की सरकारें चाहे वो किसी भी पार्टी की सरकार हो केंद्र सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलते हुए इस महामारी से निपटने की भरसक कोशिश कर रहे हैं।

यह समय थोड़ा मुश्किल भरा है, लेकिन सावधानी बरतने से हमारा बचाव होगा, इसलिए सरकार व विशेषज्ञों द्वारा दी जा रही सलाह का अनुपालन करना हर एक नागरिक का परम कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि, इस अफ़रातफ़री का सबसे ज्यादा असर हमारी गरीब व दिहाड़ी मजदूरी करने वाले गरीब वर्ग के लोगों पर पड़ रहा है, इसलिए सरकार को उनके हितों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। जितना कोरोना से मुकाबला जितना जरूरी है, उतना ही जरूरी है हमारी गरीब जनता की देखभाल भी।

इसलिए सरकार गरीबों के खाने-पीने के समान की आपूर्ति सुनिश्चित करे और कालाबाज़ारी के खिलाफ भी सख्त कदम उठाये। जो मेडिकल स्टाॅफ कोरोना के इलाज में लगे हैं, उन्हें सरकार द्वारा सुरक्षा के समुचित उपकरण प्रदान किये जाने चाहिए व आवश्यक उपकरणों की खरीद समय रहते कर लेनी चाहिए। उत्तराखंड में वेंटिलरों की खासी कमी है, इसलिए जांच केंद्र बढ़ाये जाने की आवश्यकता है।

Advertisements

बात को जारी रखते हुए पिरशाली ने कहा कि, राज्य सरकार द्वारा मजदूरों को 1000 रुपये की सहायता राशि दिये जाने की घोषणा की गई है। यह राशि कम से कम 2,500 होनी चाहिए और यह पंजीकृत व अपंजीकृत दोनों प्रकार के मजदूरों को दी जानी चाहिए। इस मामले में अभी तक दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने सबसे बेहतरीन कार्य किया है। दिल्ली सरकार ने 45,000 नई आइसोलेशन वार्ड तैयार कर दिए। 70 वाटर कैनन टैंकों में सैनिटाइजर भरवा कर दिल्ली को सैनिटाइज किया जा रहा है।

बस, मेट्रो, सड़कों और पार्कों को सैनिटाइज किया जा रहा है। 3,200 रिटायर डॉक्टरों को ड्यूटी पर बुला लिया। 700 मोहल्ला क्लीनिक में टेस्टलैब और आइसोलेशन वार्ड बना दिए। रिलीफ फंड, मेडिकल फैसिलिटी, मास्क और सेनीटाइजर की फ्री होम डिलीवरी की जा रही है। लॉकडाउन के दौरान घर रहने वालों की सैलरी की व्यवस्था भी कर दी गयी है। विधवा व वृद्धा पेंशन दोगुनी कर दी है। रैन बसेरे में गरीब लोगों के रहने की व्यवस्था भी की है।

उन्होंने कहा कि, आप पार्टी का उत्तराखण्ड सरकार से अनुरोध है कि, वो भी दिल्ली सरकार की तर्ज पर प्रदेश में सुविधा मुहैय्या कराने का प्रयास करें व दिल्ली मुम्बई में फंसे उत्तराखंडियों को वापस लाने के लिए जरूरी कदम उठाए। मुम्बई से आ रही तस्वीरों में उत्तराखण्ड के हमारे नौजवान रेलवे स्टेशन पर भूखे बैठे हैं, उनको सरकार की मदद से खाना पहुचाने की व्यवस्था करें। मेरी उत्तराखण्ड की जनता से अपील है कि, इस मुश्किल घड़ी में सरकार का पूर्ण रूप से सहयोग करें।