Exclusive: महिला ने अफसर पर लगाया योन उत्पीड़न का झूठा आरोप

महिला ने अफसर पर लगाया योन उत्पीड़न का झूठा आरोप

 

– कोतवाली रुद्रप्रयाग ने किया महिला व उसके पति के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत

रूद्रप्रयाग। बीते 14 मार्च को खंड विकास अधिकारी, जखोली पर एक महिला के द्वारा मीडिया के कैमरे पर ‘एक रात साथ सोने की मांग’ करने का गंभीर आरोप लगाने वाली महिला और उसके पति के खिलाफ पुलिस ने कई धाराओं मे मुकदमा दर्ज कर लिया है। मीडिया में खबर चलने के बाद कुवंर सिंह सजवाण, खण्ड विकास अधिकारी, जखोली ने कोतवाली रुद्रप्रयाग में आकर लिखित तहरीर दी कि,‌ उनके विकास खण्ड के ग्राम पंचायत जाखाल के राजस्व ग्राम जखोली तल्ली मे विधायक निधि से पंचायत भवन निर्माण हेतु 4.00 (चार लाख) रुपये स्वीकृत हुआ था। जिसमें ग्राम जखोली तल्ली, निवासी एक महिला अपनी निजी भूमि को सरकारी भूमि बताकर पंचायत घर का निर्माण करवाना चाह रही थी।

मामले की गंभीरता के बाद जिलाधिकारी ने तहसीलदार जखोली से भूमि की जांच करवायी तो उक्त भूमि सरकारी न होकर निजी भूमि पायी गयी जो महिला के पति के नाम पर दर्ज थी। विभागीय नियमों के अनुसार पंचायत घर यदि किसी निजी भूमि मे बनाया जाना प्रस्तावित हो तो, उक्त भूमि की पंचायत के नाम रजिस्ट्री करनी पड़ती है। विभागीय नियमों के अनुसार प्रस्तावित भूमि के निजी पाये जाने पर उक्त स्वीकृत धनराशि को नियमानुसार वापस किया गया।

Advertisements

इस पर कुंठित होकर उक्त महिला व उसके पति द्वारा खण्ड विकास अधिकारी जखोली को फोन पर धमकी व गाली-गलोच की गयी तथा उनके ग्राम विकास अधिकारी एवं ग्राम पंचायत विकास अधिकारी को कहा गया कि, यदि तुम्हारे बीडीओ ने हमारी धनराशि अवमुक्त नहीं की तो वह अपनी पत्नी द्वारा महिला मामलों के केस में फंसायेगा। इसके अतिरिक्त महिला के पति द्वारा उनके साथ उनके कार्यालय में आकर भी अभद्रता करते हुए सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाई गई।

इतना ही नहीं महिला द्वारा दिनांक- 12/03/20 को सोशल मीडिया के माध्यम से उन्हें बदनाम करने की नीयत से गलत आरोप लगाते हुए वीडियो पोस्ट कराया गया, जिससे उनकी मानहानि हुई है एवं उनके द्वारा स्वयं को असहज एवं अपमानित महसूस करने तथा साथ ही सामाजिक प्रतिष्ठा को काफी आघात पहुंचाने संबंधी शिकायत प्रेषित की गई। शिकायत के आधार पर महिला एवं उसके पति के विरुद्ध कोतवाली रुद्रप्रयाग पर मु.अ.स. 05/2020 धारा 186, 389, 504, 506 भा0द0वि0 का अभियोग पंजीकृत किया गया है। वहीं स्थानीय लोग भी महिला द्वारा इस प्रकार के घिनौने और झूठे आरोप लगाने की निंदा कर रहे हैं।