शिक्षकों में कोरोना का खौफ, बोर्ड परीक्षा की कॉपी जांचने से किया इंकार

Teacher

शिक्षकों में कोरोना का खौफ, बोर्ड परीक्षा की कॉपी जांचने से किया इंकार

 

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के जुबली कॉलेज में राजकीय शिक्षकों ने कोरोना के खौफ से यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटर की उत्तरपुस्तिकाएं जांचने से इनकार कर दिया। शिक्षकों ने बाहर प्रदर्शन कर कहा कि, अभी 10 दिन बाद मूल्यांकन करेंगे। दरसअल, यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटर की उत्तरपुस्तिकाएं सोमवार से जांची जानी थी। इसके लिए राजधानी लखनऊ में चार केन्द्र बनाए गए। यहां करीब 3,500 शिक्षक कॉपी जांचेंगे।

बता दें कि, कोरोना के मद्देनजर जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ मुकेश कुमार सिंह ने रविवार को सभी केन्द्रों का दौरा किया था। दावा है कि, शिक्षकों के बैठने की जगह से लेकर अन्य स्थानों को सेनेटाइज्ड कराया गया है। डीआईओएस मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि, सभी केन्द्रों की सीसी कैमरा सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण किया। हर केंद्र में सेनेटाइजर, साबुन और सफाई व्यवस्था का बारीकी से निरीक्षण किया। रविवार शाम को नगर निगम की ओर से सभी केंद्रों पर फागिंग भी की गई।

Advertisements

इसके अलावा किसी भी तरह की इमरजेंसी से निपटने के लिए स्वास्‍थ्य विभाग की ओर से हर मूल्यांकन केंद्र पर एक एम्बुुलेंस लगाई गई है। राजकीय जुबली इंटर कॉलेज में करीब एक लाख 60 हजार 24 कॉपीयां जांची जानी हैं। यहां 691 शिक्षक लगाए गए हैं। राजकीय इंटर कॉलेज हुसैनाबाद में 65 डीएचई, 566 शिक्षकों की देख-रेख में एक लाख 41 हजार 136 कॉपियां जांची जाएंगी। राजकीय इंटर कॉलेज निशातगंज में एक लाख 17 हजार 525 कॉपियां जांचने के लिए 764 शिक्षक लगाए गए हैं। अमीनाबाद इंटर कॉलेज में कुल दो लाख 47 हजार 129 कॉपियां जांची जाएंगी।