लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ होनी चाहिए सख्त विभागीय कार्रवाई: शर्मा

Pinny sharma

लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ होनी चाहिए सख्त विभागीय कार्रवाई

 

देरी से सूचना देना पड़ा लोक सूचना अधिकारी को भारी, होगी विभागीय कार्यवाही। आयोग ने आबकारी आयुक्त को दिए कार्यवाही के निर्देश। आयोग ने सचिव आबकारी को भी अपीलीय अधिकारी के खिलाफ कठोर चेतावनी जारी करने के दिए निर्देश। लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ होनी चाहिए सख्त विभागीय कार्रवाई। फैसला मोर्चा की बड़ी जीत। सुनवाई के दौरान लोक सूचना अधिकारी ने स्वीकार की गलती।

देहरादून। देरी से सूचना देने के मामले में राज्य सूचना आयुक्त चंद्र सिंह नपलच्याल ने अपने आदेश में आबकारी विभाग के लोक सूचना अधिकारी/वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी सोबन सिंह नेगी के खिलाफ आबकारी आयुक्त को विभागीय कार्रवाई के लिए लिखा है। बता दें कि, जन संघर्ष मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी प्रवीण शर्मा पिन्नी ने 23 मार्च 2019 को आबकारी विभाग से राजस्व और शराब की ब्रांड से जुड़ी सूचनाएं मांगी थी। उन्होंने बताया कि, उस दौरान कार्यालय आबकारी आयुक्त देहरादून के कार्यालय में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी सोबन सिंह नेगी लोक सूचना अधिकारी के पद पर कार्यरत थे।

Advertisements

अनुरोध पत्र प्राप्त होने के बावजूद उनके द्वारा अपीलार्थी को सूचनाएं उपलब्ध नहीं कराई गई। मामले में अपील करने के बाद अपीलीय अधिकारी प्रभा शंकर मिश्रा/उप आबकारी आयुक्त देहरादून ने भी 94 दिन बाद भी सूचना उपलब्ध नहीं कराई थी। जिस पर उन्होंने आयोग का दरवाजा खटखटाया था। सुनवाई के दौरान लोक सूचना अधिकारी सोबन सिंह नेगी ने विलम्ब से सूचना प्रेषित करने को अपनी त्रुटि स्वीकारा। जिस पर आयोग ने उन्हें कठोर चेतावनी जारी करने के साथ ही आबकारी आयुक्त से उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने को कहा है।

इसके साथ ही आयोग ने सचिव आबकारी विभाग सचिवालय देहरादून से भी अपने स्तर से चेतावनी जारी कर प्रथम अपीलीय अधिकारी/अपर आबकारी आयुक्त मुख्यालय देहरादून को भी भविष्य में आयोग के निर्देशों का अनुपालन किए जाने संबंधित कार्रवाई समय करने को कहा है। प्रवीण ने बताया कि, आयोग के इस फैसले से सूचना देने में कोताही बरतने वाले अधिकारियों को सबक मिलेगा। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई जरूरी है। उन्होंने फैसले को मोर्चा की बड़ी जीत बताया।