सीएम त्रिवेन्द्र ने केन्द्रीय परिवहन मंत्री संग पहाड़ी क्षेत्रों में हो रहे निर्माण कार्यो का लिया हवाई जायजा

सीएम त्रिवेन्द्र ने केन्द्रीय परिवहन मंत्री संग पहाड़ी क्षेत्रों में हो रहे निर्माण कार्यो का लिया हवाई जायजा

 

देहरादून। प्रदेश के मुख्या त्रिवेन्द्र एवं केन्द्रीय सड़क परिवहन राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने बीते गुरूवार को चारधाम परियोजना के अन्तर्गत चिन्यालीसौड़, धरासू, जानकीचट्टी, बड़कोट एवं गंगोत्री, भैरवघाटी में हो रहे कार्यों का हवाई निरीक्षण कर जायजा लिया। हवाई सर्वेक्षण के उपरान्त मुख्यमंत्री एवं केन्द्रीय सड़क परिवहन राज्यमंत्री ने मातली में आईटीबीपी बैठक कक्ष में अधिकारियों के साथ आगामी चारधाम यात्रा सम्बन्धी कार्यों के बारे में वार्ता की। वहीं चारधाम परियोजना के तहत जनपद में हो रहे कार्यों की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुये जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान ने कहा कि, परियोजना के तहत निर्माण कार्य तेजी से हो रहे हैं।

इसी दौरान सीएम व केन्द्रीय मंत्री द्वारा चारधाम परियोजना के अन्तर्गत सिलक्यारा में निर्माणाधीन सुरंग का फोटोग्राफ सहित सभी कार्य योजना का अवलोकन किया गया। बीआरओ, राष्ट्रीय राजमार्ग एवं एनएचआईडीसीएल के अधिकारियों से चार धाम परियोजना के तहत हो रहे कार्यों के बारे में विस्तृत रूप से वार्ता की। केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री ने चारधाम परियोजना के तहत किए जा रहे सभी कार्य वर्ष 2021 में आयोजित होने वाले कुम्भ मेले से पहले पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए।

Advertisements

उन्होंने कहा कि, इससे चारधाम यात्रियों को और सहुलियत मिल सकेगी। उन्होंने निर्देश दिए कि, सिलक्यारा टनल में जल निकासी के कार्यों में तेजी लाई जाए, इसके लिए उचित व्यवस्था की जाए। उन्होंने अस्थिर पहाड़ी ढलानों के उचित उपचार के भी निर्देश दिए। साथ ही चारधाम यात्रा को पहले की अपेक्षा ओर अधिक सुगम बनाने हेतु कार्य तेजी से किए जाएं। सीएम ने कहा कि, चारधाम परियोजना के तहत सड़क निर्माण कार्यों को जल्द ही पूर्ण कर लिया जायेगा। ताकि उत्तराखण्ड में आने वाले देशी व विदेशी पर्यटक सुगमता से यात्रा कर सकें। एनजीटी की हाई पावर कमेटी ने अपनी अन्तिम रिपोर्ट सौंपी दी है। जल्द ही उस पर कार्यवाही होगी, ताकि ऑल वेदर रोड निर्माण में रूके हुए कार्य प्रारम्भ हो सकें।

इस अवसर पर गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत एवं जनपद स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों सहित 12 वाहिनी आईटीबीपी कमान्डेट पवन कुमार एवं मेजर अवनीश शर्मा भी उपस्थित थे।