ग़जब: ग्राम प्रधान व तहसील की सांठ-गांठ ने जिंदा लोगो को किया मृतक घोषित

ग्राम प्रधान व तहसील की सांठ-गांठ ने जिंदा लोगो को किया मृतक घोषित

 

– बीमा की धनराशि निकालकर हैरतंगेज कारनामा
– मृत घोषित होने के बाद जिंदा तहसील पहुँचे पीड़ित

रिपोर्ट- अरविन्द सिंह दांगी
उत्तरप्रदेश। प्रदेश के मुखिया भले की भ्रस्टाचार पर अंकुश लगाने की बात कर रहे हो। लेकिन बुंदेलखंड के झाँसी जिले में भ्रस्टाचारियों ने भ्रस्टाचार की हदो को पार करते हुए इतिहास रच डाला। जहाँ पर ग्रामीणों को सरकार द्वारा दी गयी आम आदमी बीमा योजना में प्रधान व सचिव सहित तहसील प्रसाशन ने मिलकर जिंदा लोगो के मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर उनकी मृत्यु उपरांत मिलने वाली बीमा राशि को निकलवाकर प्रदेश में एक नया इतिहास रच डाला।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार मऊरानीपुर तहसील क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम मगरवारा के आधा दर्जन ग्रामीणों को जब यह जानकारी हुई कि, ग्राम के प्रधान व प्रशासन ने उनकी मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर आम आदमी बीमा योजना में मिलने वाली धनराशि को निकाल लिया गया है। उन्होंने तत्काल तहसील प्रशासन को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि, उनके द्वारा ग्राम प्रधान को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2016 में कागज जमा किए गए थे, लेकिन प्रधानमंत्री आवास तो नहीं मिला।

Advertisements

उसके बदले ग्राम प्रधान व सचिव ने मिलकर आम आदमी बीमा योजना के तहत मृत्यु उपरांत मिलने वाली धनराशि को निकाल लिया तथा जीवित लोगों के मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा कर उनकी पत्नियों के माध्यम से सरकारी पैसा खाते में आने की बात कहते हुए 30 हजार रुपये निकाल लिए गए। जिसमे 10 हजार रुपये मृतक की पत्नी को देकर बकाया पैसा अपने पास रख लिया गया। इस घटना का खुलासा तब हुआ जब ग्राम के लेखपाल द्वारा ग्राम में जाकर जांच की तो उन्हें पता चला कि, उन्हें जिंदा होने के बाद भी मृत घोषित कर दिया।

 

मगरवारा गांव के गोविन्ददास पुत्र जानकी प्रसाद बालादिन पुत्र छिदामी अहिरवार भगवत सहित कई लोगो को मृत घोषित कर ग्राम के प्रधान व सचिव एवं तहसील प्रासाशन ने मिलकर इतिहास रच डाला। खुद को मृत सुनकर पीड़ित तत्काल तहसीलदार कार्यालय पहुँचे, जहाँ तहसील को पत्र देकर जांच कर दोषियों के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही करने की मांग की। जब इस संबंध में तहसीलदार से जानकारी चाही तो उन्होंने बताया कि, मामला संज्ञान में आया है, जिस पर जांच कराकर दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी।