Breaking: अंतरराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष की गोली मारकर हत्या

अंतरराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष की गोली मारकर हत्या

 

देहरादून। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रविवार सुबह अंतरराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि, रंजीत बच्चन मॉर्निंग वॉक के लिए घर से निकले थे। तभी हजरतगंज इलाके में बाइक सवार बदमाशों ने उनको गोली मार दी। जहां गोली लगने के बाद बच्चन की मौके पर ही मौत हो गई।

 

बता दें कि, योगी आदित्यनाथ सूबे में कानून व्यवस्था को लेकर भले ही बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं। लेकिन प्रदेश में एक के बाद एक दिलदहलाने वाली घटना घट रही है। लेकिन राजधानी लखनऊ के हालात तो कुछ और ही हकीकत बयां कर रहे हैं। प्रदेश में बदमाशों के हौसले किस कदर बुलंद हैं, इस बात का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि, राजधानी के सबसे पॉश इलाके हजरतगंज में एक और हिंदूवादी नेता की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई।

यह भी बता दें कि, इससे पहले बीते साल हिंदूवादी नेता और हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। दरअसल, घर आकर बदमाशों ने उन पर चाकू से हमला किया था। इसके बाद इलाज के दौरान ट्रामा सेंटर में मौत हो गई थी। खुर्शीद बाग स्थित हिंदू समाज पार्टी कार्यालय में चाय पीने आए बदमाश मिठाई के डिब्बे में चाकू और तमंचा लाए थे। उस समय भी घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी आसानी से भाग गए थे। हालांकि, बाद में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर पूरे मामले का खुलासा किया था।

Advertisements

 

रंजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या के बाद समाजवादी पार्टी (एसपी) के नेता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि, ‘हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव तो इस बात को बार-बार कहते आ रहे हैं कि, उत्तर प्रदेश में किसी का भी जीवन सुरक्षित नहीं है। यहां कभी भी किसी की भी हत्या हो सकती है लेकिन राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का कहना है कि, सब ठीक है। यहां कानून का राज नहीं है।

इसके अलावा, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की मानें तो यूपी में कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो गई है। प्रदेश में लगातार हत्या और लूट जैसी घटनाएं हो रही हैं। लेकिन सरकार कुछ नहीं कर रही है। उन्होंने कहा, अब यूपी को हत्या के लिए जाना जाने लगा है। मुख्यमंत्री कानून व्यवस्था नहीं संभाल पा रहे हैं। वह सिर्फ भाषणमंत्री बनकर रह गए हैं।

इसके साथ ही मृतक रंजीत की पत्नी ने कहा कि, किरन तिवारी ने कहा, सरकार अपराधियों पर लगाम लगाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है और अपराधियों का मनोबल ऊंचा हो गया है। योगी आदित्यनाथ सूबे में कानून व्यवस्था को लेकर भले ही बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं। लेकिन प्रदेश में एक के बाद एक दिलदहलाने वाली घटना हो रही है। राजधानी लखनऊ के हालात तो कुछ और ही हकीकत बयां कर रहे हैं। प्रदेश में बदमाशों के हौसले किस कदर बुलंद हैं, इस बात का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि, राजधानी के सबसे पॉश इलाके हजरतगंज में एक और हिंदूवादी नेता की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई।