देहरादून निवासी संग दुष्कर्म कर हत्या का आरोपी सिपाही ससपेंड

देहरादून निवासी संग दुष्कर्म कर हत्या का आरोपी सिपाही ससपेंड

 

देहरादून। सालावाला निवासी ब्यूटीशियन से दुष्कर्म और हत्या के आरोपित सिपाही को सस्पेंड कर दिया गया है। सिपाही के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज होने के बाद एसएसपी ने यह कार्रवाई की। वहीं, मामले की तह तक पहुंचने के लिए पुलिस ने होटल के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कब्जे में ली है। मुकदमे की जांच शहर कोतवाल प्रवीण सिंह कोश्यारी करेंगे।

देहरादून के डालनवाला क्षेत्र निवासी ब्यूटीशियन का शव रविवार सुबह जमुना पैलेस के निकट होटल सिटी पार्क के कमरे से मिला था। दरअसल महिला के लिए होटल का कमरा सीओ सिटी कार्यालय में तैनात सिपाही दीपक चैहान ने बुक कराया था। सिपाही शनिवार देर रात तक महिला के साथ कमरे में ही था। रविवार को महिला के भाई की तहरीर पर पुलिस ने सिपाही दीपक चैहान पर दुष्कर्म और हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया था।

सोमवार को एसएसपी डी. सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने सिपाही को सस्पेंड कर दिया। वहीं, पुलिस टीम ने होटल पहुंचकर सीसीटीवी कैमरे की फुटेज जुटाई। साथ ही, होटल कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई। कमरे से बरामद शराब की बोतल, नींद की गोलियां और अन्य सामान पुलिस पहले ही सीज कर चुकी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं होने के चलते पुलिस ने विसरा सुरक्षित रख लिया है। दून निवासी ब्यूटीशियन तलाकशुदा थी। वो और सिपाही दीपक चैहान पिछले चार साल से एक-दूसरे को जानते थे।

Advertisements

ब्यूटीशियन हरिद्वार की मॉडल कॉलोनी निवासी विजय जगूड़ी की बहन की शादी में मेकअप के लिए आई थी। परिवार के मुताबिक वह तीन बैग लेकर आई थी, लेकिन वापसी में दो बैग लेकर गई। बाद में सिपाही दीपक चैहान एक अन्य साथी के साथ बैग लेने पहुंचा था। वहीं, मृतका के परिवार ने आरोप लगाया कि, दुल्हन का मेकअप करने के बाद वह देहरादून लौट गई थी। सिपाही ने फोनकर उसे दोबारा हरिद्वार बुलाया। पुलिस इस तथ्य की पड़ताल कर रही है। मुकदमे में दीपक के एक अज्ञात साथी को भी नामजद किया गया है। वह साथी कौन है, इससे पर्दा उठना अभी बाकी है।

मृतका के परिवार वाले मॉडल कॉलोनी पहुंचे थे तो उन्हें पता चला कि बैग लेने दो लोग आए थे। इससे परिवार का शक और गहरा गया। हालांकि होटल के सीसीटीवी कैमरे में दीपक के अलावा कोई दूसरा युवक नजर नहीं आ रहा है। सिपाही के अनुसार रात करीब आठ बजे होटल में एंट्री के बाद करीब साढ़े दस बजे ही लौट गया था। बाद में देर रात 12 बजे वह खाना लेकर होटल पहुंचा था, लेकिन महिला ने कमरे का दरवाजा नहीं खोला।

दीपक ने होटल कर्मचारियों को भी इस बारे में बताया था। इस पर होटल कर्मचारियों को लगा था कि, महिला गहरी नींद में सो गई है। इसके बाद दीपक सुबह फिर होटल पहुंचा, तब भी दरवाजा नहीं खुलने पर होटल मैनेजर ने अनहोनी की आशंका पर पुलिस बुलाई। ऐसा माना जा रहा है कि, दीपक जब खाना लेकर होटल पहुंचा, उससे पहले ही महिला की मौत हो चुकी थी।