नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के लिए जनपद स्तरीय अधिकारियों का दो दिवसीय प्रशिक्षण

नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के लिए जनपद स्तरीय अधिकारियों का दो दिवसीय प्रशिक्षण 

 

देहरादून। शुक्रवार को पंचायतीराज विभाग द्वारा नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण के दृष्टिगत जनपद स्तरीय अधिकारियों का दो दिवसीय प्रशिक्षण (टीओटी) आईआरडीटी सभागार सर्वे चौक देहरादून में प्रारम्भ हुआ। जिसमें राज्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत, विधायक कोटद्वार दिलीप रावत, विधायक पौड़ी मुकेश कोहली, विधायक, गंगोत्री गोपाल रावत एवं अपर सचिव एवं निदेशक पंचायतीराज एचसी सेमवाल द्वारा दीप प्रज्जवलन कर कार्यशाला का शुभारम्भ किया गया।

इस अवसर पर डॉ धन सिंह रावत ने कहा कि, ‘‘भारत सरकार एवं राज्य सरकार की नीतियों और योजनाओं को ग्राम स्तर पर प्रसारित करने हेतु इस प्रकार के प्रशिक्षण उपयोगी होते हैं। तथा इनका समय-समय पर आयोजन किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि, विभिन्न रेखीय विभागों को आपसी समन्वय करते हुए ग्राम पंचायतों में विकास हेतु योजनाओं का क्रियान्वयन सुचारू रूप से करना चाहिए।‘‘

अपर सचिव एवं निदेशक पंचायतीराज एचसी सेमवाल द्वारा नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों को कार्यशाला के उद्देश्यों से अवगत कराया गया। वहीं विधायक कोटद्वार दिलीप रावत, विधायक पौड़ी मुकेश कोहली द्वारा कार्यशाला में उपस्थित प्रतिभागियों को प्रशिक्षण की महत्ता एवं ग्राम स्तर पर पंचायतीराज व्यवस्था को और अधिक सशक्त करने की बात की गयी।

Advertisements

कार्यशाला में जैव विविधता विषय पर धनंजय मिश्रा द्वारा चर्चा की गयी। प्रदीप आंनन्द द्वारा प्रधानमंत्री जन-धन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा योजना पर सभी का ज्ञानवर्धन किया गया।अरविन्द सैनी, सहायक श्रमायुक्त श्रम विभाग द्वारा श्रमिक कल्याण, बन्धुआ मजदूरी, प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना एवं व्यापारी कल्याण योजना पर सभी नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों को अवगत कराया गया। पंचायतीराज विभाग उत्तराखण्ड के सेवानिवृत्त संयुक्त निदेशक डीपी देवराड़ी द्वारा पंचायतीराज व्यवस्था, 73वें संविधान संशोधन एवं उत्तराखण्ड पंचायतीराज अधिनियम, 2016 पर प्रतिभागियों से वार्ता की गयी तथा उनकी शंकाओं को दूर किया गया।

महिला सशक्तिकरण एवं पोषण पर सुजाता सिंह, उप-निदेशक आईसीडीएस द्वारा त्रिस्तरीय पंचायतो में महिलाओं की अहम भूमिका पर प्रकाश डाला गया।कार्यशाला में सचिन चौहान द्वारा स्वच्छ पंचायत, एमआईएस डैशबोर्ड को पंचायतों में प्राथमिकता से लागू करने हेतु मार्गदर्शन किया गया। कार्यशाला में आरती बलोदी द्वारा सीएम हैल्पलाईन और पेयजल विभाग द्वारा जल शक्ति अभियान के अन्तर्गत जल संरक्षण आदि विषयों पर प्रतिभागियों का ज्ञानवर्धन किया गया।

नगर स्वास्थ्य अधिकारी देहरादून डॉ आरके सिह द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण के अन्तर्गत सभी प्रतिभागियों को मोबाईल एप्प स्वच्छ सर्वेक्षण के सम्बन्ध में जानकारी भी दी। दिनेश गंगवार, एसपीएमयू निदेशालय पंचायतीराज द्वारा पंचायतीराज विभाग के अन्तर्गत लागू सॉफ्टवेयरों, ई-पंचायत, पीएफएमएस एवं एमआईएस के बारे में प्रतिभागियों को जानकारी दी गयी। कार्यशाला का संचालन कंचन नेगी द्वारा किया गया और पंचायतीराज विभाग उत्तराखण्ड से राजीव नाथ त्रिपाठी, जितेन्द्र कुमार, दीपक पटवाल, योगेश नेगी, रवीश नेगी, आदि उपस्थित रहे।