प्रदेश उत्तराखंड में नए साल का जश्न मनाने पहुंचे पर्यटकों से देवभूमि हुई गुलजार

प्रदेश उत्तराखंड में नए साल का जश्न मनाने पहुंचे पर्यटकों से देवभूमि हुई गुलजार

 

होटल-रिसोर्ट हुए फुल पैक

– मसूरी, धनौल्टी, चोपता, औली, ऋषिकेश, नैनीताल आदि क्षेत्रों में पर्यटकों की उमड़ी भीड़

रिपोर्ट- कैलाश जोशी (अकेला)
देहरादून। न्यू ईयर पर देहरादून शहर के साथ ही मसूरी, चकराता, ऋषिकेश और अन्य हिल स्टेशन भी पर्यटकों के स्वागत के लिए तैयार हैं। मसूरी और चकराता में सभी होटल फुल हो गए हैं। वहीं दून और ऋषिकेश में लगभग सभी बड़े होटल, रेस्टोरेंट और रिसॉर्ट में थर्टी फर्स्ट को जश्न के कार्यक्रमों की पूरी तैयारी है। चकराता में पर्यटक बोन फायर का भी आनंद ले सकते हैं। साथ ही पर्यटन विभाग ने भी पुलिस समेत विभिन्न विभागों और होटल की एसोसिएशनों के पदाधिकारियों से पर्यटकों की सुरक्षा और सुविधा को लेकर मंथन किया है। शहर और आसपास के क्षेत्रों में स्थित होटल, रेस्टोरेंट और रिसॉर्ट में लोग डिस्को, डीजे आदि पर नए साल का जश्न मना सकेंगे।

बता दें कि, उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के वाइस प्रेजीडेंट मनु कोचर ने बताया कि, दून में लगभग सभी बड़े होटलों में न्यू ईयर जश्न के कार्यक्रमों का आयोजन होगा। दून में जश्न मनाने वालों में लोक उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी ने बताया कि, मसूरी समेत अन्य हिल स्टेशनों में नए साल को लेकर होटल व रेस्टोरेंट संचालकों द्वारा विशेष तैयारी की गई है। इस समय हिल स्टेशनों में धूप निकल रही है, जबकि निचले इलाकों में कोहरे और ठंड से लोगों का हाल बेहाल है। ऐसे में उम्मीद है कि, नए साल के जश्न में मसूरी में बड़ी संख्या में पर्यटक आएंगे। मसूरी में लगभग 350 होटलों में फुल बुकिंग आ चुकी है।

अक्सर मसूरी में होटल फुल होने की स्थिति में ही पर्यटक दून में होटल बुक कराते हैं। चकराता में ज्यादातर होटलों में इस बार नए साल के स्वागत के लिए बोन फायर की थीम को आधार रखा गया है। जहां पर्यटक शांत फिजाओं में लाइट म्यूजिक संग परिवार के साथ नए साल का स्वागत करेंगे। होटल संचालकों ने पर्यटकों को घुमाने के लिए वाहन चालकों की भी व्यवस्था की है। एसोसिएशन ने अपील की है कि, उन्हीं चालकों को हायर करें, जो होटलों में रजिस्ट्रर्ड हों। होटल एसोसिएशन चकराता के अध्यक्ष बिट्टू चैहान ने बताया कि, ज्यादातर होटलों में बुकिंग फुल हो चुकी है। ऋषिकेश के आस-पास कैंपों में होंगे ज्यादातर जश्न नए साल को लेकर तीर्थनगरी और आसपास के होटल, रिसॉर्ट व कैंप संचालक जोर-शोर से तैयारियों में जुटे हैं।

ऋषिकेश के आसपास थर्टी फर्स्ट पर ज्यादातर जश्न कैंपों में ही होंगे। तपोवन क्षेत्र के नौ से अधिक होटल और कैंप नए साल का जश्न मनाने को तैयार हैं। बता दें कि, तपोवन, शिवपुरी, लक्ष्मणझूला आदि स्थानों जगहों पर बने होटल और कैंपों में प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में बाहरी प्रदेशों से लोग पहुंचते हैं। इस दौरान यहां बोन फायर, डीजे नाइट पार्टी, तंबोला, न्यू ईयर स्पेशल गेम आदि शामिल हैं। मौसम विभाग के अनुसार, इस बार बर्फबारी केे आसार हैं। जिससे नए साल का मजा दोगुना हो जाएगा। इसे देखते हुए पर्यटकों के चकराता और मसूरी बड़ी संख्या में पहुंचने की उम्मीद है। वहीं कहीं-कहीं बारिश भी हो सकती है। तीर्थनगरी में एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिए पर्यटकों में उत्साह देहरादून तीर्थनगरी ऋषिकेश में होटल और एडवेंचर स्पोर्ट्स से जुड़ी हुई कंपनियों ने कई आकर्षक पैकेज दिए है। पर्यटक ऋषिकेश के गंगा तट पर एक बार फिर नए साल के स्वागत के लिए पूरी तैयारी में जुट गए हैं।

देहरादून स्तिथ होटल जेएसआर में 31st  की तैयारी लाइव बैंड के साथ
  देहरादून स्तिथ होटल जेएसआर में 31st की तैयारी लाइव बैंड के साथ

यहां के कई होटल-रिजॉर्ट राफ्टिंग कैंप नए साल के जश्न के लिए तैयार हैं, और कई आकर्षक पैकेज भी दे रहे हैं।ऋषिकेश में नए साल के जश्न का माहौल बन चुका है। देश-विदेश के पर्यटक पहाड़ों की गोद में नए साल का जश्न मनाने के लिए पहुंचने लगे हैं। नए साल पर बर्फबारी की संभावनाओं के बीच पर्यटक नए साल पर शानदार मौसम का मजा लेने की उम्मीद में यहां आए हैं। मुंबई से आए पर्यटक ग्रोवित परमार और बेंगलुरु से आए अरुण कुमार मिले जिनके लिए ऋषिकेश में राफ्टिंग एक पूरी तरह नया और कभी न भूलने वाला अनुभव था। उन्होंने ऋषिकेश के मौसम की भी जमकर तारीफ की और कहा कि, वह फिर यहां आना चाहेंगे। कैंपिंग व्यवसायी सुमित कुमार ने बताया कि, नए साल को देखते हुए कई तरह के पैकेज तैयार किए गए हैं।

Advertisements

 

नए साल का जश्न मनाने आने वाले पर्यटकों के लिए बीच कैंपिंग, बंजी जंपिंग, रिवर राफ्टिंग, नौकायन जैसे एडवेंचर स्पोर्ट्स का इंतजाम किया गया है। इसके अलावा फैमिली के साथ आने वाले पर्यटकों के लिए भी ख़ास इंतजाम हैं। कैंपों में रहने के साथ ही खाने-पीने की भी व्यवस्था की गई है। रात को कैंप-फायर और डीजे के भी इंतजाम हैं। ताकि यहां दिन-रात यादगार बन सकें। गढ़वाल के सभी पर्यटकों स्थलो में रोनक ही रोनक है। प्रदेश के गढवाल मंडल का हर पर्यटक स्थल नए साल के लिए पूरी तरह से तैयार है। प्रशासन ने भी अपनी तैयारियों में कोई कोर कसर नही छोडी है। चोपता में करीब चार हजार से अधिक पर्यटक इस वर्ष को विदा करने और नव वर्ष के स्वागत के लिए पहुंच गए हैं। यहां होटल, लॉज और हट्स फुल हो गए हैं। चोपता में कड़ाके की ठंड के कारण शाम होते ही तापमान माइनस में पहुंच रहा है। साथ ही चमोली स्थित विश्व विख्यात पर्यटक स्थल औली में तो पर्यटकों का बर्फबारी के बाद से ही तांता लगना शुरू हो गया था।

 

नए साल का जश्न पूरे जोश खरोश से मनाने की तैयारियां चल रही है। उधर, उत्तरकाशी जिले में नए साल के जश्न के लिए अलग-अलग स्थानों पर करीब चार हजार पर्यटक पहुंच गए हैं। वहीं पर्यटक स्थल औली भी नए साल के जश्न के लिए पैक हो गया है। यहां तीन हजार से अधिक पर्यटक पहुंच चुके हैं, जबकि अन्य स्थानों पर दो से ढाई हजार पर्यटक ठहरे हुए हैं। उधर, पर्यटक स्थल धनोल्टी भी पर्यटकों से पैक हो गया है। सोमवार को दिनभरकुंड, ऊखीमठ, चोपता, मंडल, गोपेश्वर हाईवे पर चोपता के लिए वाहनों की कतार लगी रही। शाम चार बजे तक यहां करीब साढ़े तीन हजार से अधिक पर्यटक पहुंच चुके थे, चोपता में पर्यटकों की आमद से सभी होटल, लॉज, हट्स और टेंट फुल हो गए हैं। इससे स्थानीय कारोबारियों के चेहरे भी खिल गए हैं। उन्हें अन्य सालों की अपेक्षा इस बार अच्छे कारोबारी की उम्मीद है। उत्तरकाशी जिले के मोरी ब्लॉक के सांकरी, हरकीदून, केदारकांठ रूट पर करीब तीन हजार ट्रैकर व पर्यटक और हर्षिल व रैथल, दयारा में करीब एक हजार पर्यटक पहुंच गए हैं।

उधर, चमोली जिले में स्थित पर्यटक स्थल औली भी जश्न के लिए पूरी तरह तैयार है। पर्यटकों से यहां के होटल, लॉज, टेंट कॉलोनी सभी पैक हो गए हैं। पहुंच चुके थे। हाईवे पर दोनों तरफ वाहनों की आवाजाही के कारण जगह-जगह पर जाम की स्थिति बनी रही। थर्टी फर्स्ट और नव वर्ष मनाने के लिए चोपता पहुंच रहे पर्यटकों की सुरक्षा के लिए पीएसी व पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

नए साल के जश्न के लिए कुंमाऊ के पर्यटक स्थलों में उमडी पर्यटकों की भीड

नैनीताल। नए साल के जश्न के लिए कुमाउ मंडल के पर्यटक स्थल नैनीताल, कोसाली, मुनस्यिारी, रानीखेत आदि क्षेत्रों में भारी संख्या में पर्यटक पहुंचे है। सुबह से ही नए साल के जश्न की तैयारियां शुरू हो गयी थी। नए साल के जश्न के मौके पर रामनगर के रिसॉर्ट व होटलों में तेज आवाज में डीजे नहीं बज सकेंगे। शासन द्वारा गठित साइलेंस जोन की टीम रात में ध्वनि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम के साथ रिसॉर्ट व होटलों पर नजर रखेगी। इसके लिए एसडीएम के निर्देशन में तीन टीमें गठित की गई है। कॉर्बेट के वन्य जीवों के आराम में कोई खलल न पड़े, इसके लिए कॉर्बेट पार्क की 500 मीटर की परिधि में शासन द्वारा साइलेंस जोन घोषित किया गया है।

नैनीताल में नववर्ष मनाने के लिए उमड़ी पर्यटकों की भीड़
            नैनीताल में नववर्ष मनाने के लिए उमड़ी पर्यटकों की भीड़

साइलेंस जोन कमेटी में एसडीएम अध्यक्ष, कॉर्बेट के वार्डन सचिव, जल संस्थान, सिंचाई विभाग, पुलिस, वन प्रभाग व प्रदूषण बोर्ड के अधिकारी सदस्य बनाए गए हैं। इस परिधि के अंतर्गत आने वाले रिसॉर्ट व होटलों में तेज साउंड के अलावा तेज रोशनी भी नहीं की जा सकती है। दिन में सुबह छह बजे से रात दस बजे तक केवल 50 डेसीबल व रात दस बजे से सुबह छह बजे तक 40 डेसीबल ही साउंड की जा सकती है। इसके अलावा डीजे भी खुले में नहीं बजाए जाएंगे। डीजे बजाने की अनुमति केवल उन रिसॉर्ट को मिली है, जिनके पास साउंड प्रूफ हॉल है। ताकि डीजे की आवाज बाहर न जा पाए।