देहरादून में आयोजित नेशनल हैंडलूम एक्सपो में पहाड़ी उत्पादों की मची धूम

देहरादून में आयोजित नेशनल हैंडलूम एक्सपो में पहाड़ी उत्पादों की मची धूम

 

देहरादून। राजधानी देहरादून के परेड ग्राउंड में आयोजित नेशनल हैंडलूम एक्सपो में दून वासियों को उत्तराखण्ड के उत्पाद बहुत आकर्षित कर रहे है। एक्सपो में उत्तराखण्ड से अनेक प्रकार की स्टाल लगाए गए है, और उन स्टॉल में बहुत सी चीजों को दिखाया गया है, जो सिर्फ उत्तराखंड में ही पाए जाते है। पहाड़ से जुड़े हुए हर चीजों का प्रदर्शन बहुत ही सुंदर तरीके से इस एक्सपो में किया गया है। चाहे वह कपड़े हो या खाने का सामान किसी भी चीज़ की कमी नहीं रखी गई है।

                          नेशनल हैंडलूम एक्सपो में लगे स्टॉल- 1

यहाँ उत्तराखंड के उत्पादों की बात करें तो उत्तराखंड के पहाड़ो की दाल समेत पहाड़ी दाल से लेकर पहाड़ो से आयी दाल और पहाड़ी नमक, पहाड़ी चावल विशेष रूप से लोगो को बहुत आकर्षित कर रहे है। उत्तराखंड के लोगो के हाथ से बनाये गर्म कपड़े भी यहाँ की जनता को खूब भा रहें है। ग्राहकों की बढ़ती तादाद देख कर जहां बुनकर काफी खुश हो रहे है। उत्तराखंड की प्रस्तुति में बात अगर कपड़ो की करे तो शिवालिक, रेशमिनी ऊनी ने अपना स्टॉल लगया है और उन्होंने ने अपने स्टाल में रेशमी, सिल्क की साड़ी, गरम लोई, टोपी, शॉल्स, जवार कट जैकेट और खड़ी के विभिन्न प्रोडक्ट लगवाये है, जो 2,200 से लेकर 6,000 की कीमत तक की है।

यह सभी प्रोडक्ट्स अलग-अलग डिज़ाइन में मौजूद है और लोगों को बहुत आकर्षित कर रहे है। वूलेन बेडशीट के चादर का स्टॉल सुलेमान अंसारी ने लगाई है, जो हरिद्वार से है और उनका कहना है कि, यह बेडशीट वूल से बना हुआ है और बहुत ही गरम होता है। यह बेडशीट 850 से लेकर 600 तक कि है और यह अलग-अलग डिज़ाइन में उपलब्ध है। वहीं दूसरी तरफ टोपियों का स्टॉल लगाया गया है, उन सभी टोपी की खासियत यह है कि, वह रैबिट वूल से बना हुआ है।जिनकी कीमत 300 से लेकर 800 तक राखी गयी है।

Advertisements
नेशनल हैंडलूम एक्सपो में लगे स्टॉल- 2
                           नेशनल हैंडलूम एक्सपो में लगे स्टॉल- 2

दूंन में पहाड़ी खाने की भी बहुत सुंदर प्रस्तुति हुई है, जैसे हरसिल, राजमा जो 230 रु किलो, चकराता राजमा 200 रु किलो, प्रोला का लाल चावल 120 रु किलो, तोरकी की दाल 240 रु किलो, गेहत की दाल 150 रु किलो, मिक्स राजमा 160 रु किलो, भांग की बीज 200 रु किलो, पहाड़ी नमक 30 रु पैकेट, जाखिया 200 रु किलो, जंगोरा 90 रु किलो, मंडुलवे का आटा 40 रु किलो, इसके अलावा और भी बहुत सारी पहाड़ी सामग्री की स्टॉल लगवाई गई है।

आयोजन समिति मेले के प्रति लोगो के बढ़ते रुझान को देख काफी खुश हैं। क्योंकि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष ज्यादा लोग एक्सपो को देखने आ रहे हैं। मेला अधिकारी केसी चमोली, उपनिदेशक शैली डबराल, जगमोहन बहुगुणा, एमएस नेगी, अश्वनी शर्मा, कुंवर सिहं बिष्ट, गिरीश चन्द्र आदि लोग मौजूद रहे।