खौफनाक: कांग्रेस नेता की दिनदिहाड़े गोली मारकर की हत्या

कांग्रेस नेता की दिनदिहाड़े गोली मारकर की हत्या

 

– गुस्साए लोगों ने पुलिस की गाड़ी में की तोड़-फोड़

हाजीपुर। बिहार के वैशाली जिले में बाइक सवार अपराधियों ने युवा कांग्रेस के पूर्व महासचिव राकेश कुमार यादव की गोली मारकर हत्या कर दी। शनिवार की सुबह शहर के सिनेमा रोड में अपराधियों ने इस वारदात को अंजाम दिया।

मिली जानकारी के अनुसार रोजाना की तरह राकेश कुमार आज भी जिम करने पहुंचे थे। जिम के पास रुकते ही बाइक सवार अपराधियों ने राकेश कुमार को गोली मार दी। मौके पर पहुंची पुलिस हत्या के कारणों का पता लगाने में जुट गई है। वहीं पुलिस का कहना है कि, जल्द से जल्द अपराधियों को पकड़ लिया जाएगा।

वैशाली में तेजी से बढ़ रहे अपराध को लेकर, हमेशा अपराध और अपराधियों के खिलाफ सोशल साइट पर राकेश यादव आवाज बुलंद करते थे। इस घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने नगर थाना पुलिस की जिप्सी को तोड़ दिया। इस दौरान सैकड़ों लोग एसपी आवास के बाहर मौजूद रहे। एसडीओ ने इस मामले पर लोगों से बात भी की है। आक्राेशित लोग एसपी को बुलाने पर अड़े हैं।

 

एसपी को देखते ही लोगों ने पुलिस वाहन पर किया पथराव

कांग्रेस नेता की हत्या के बाद सदर अस्पताल पहुंचे एसपी को देखते ही स्थानीय लोग उग्र हो गए और पुलिस वाहन पर जमकर पथराव किया। जिससे एसपी ने दलबल के साथ मौके से भाग कर जान बचाई। आक्रोशित लोगों ने पुलिस के वाहनों को क्षतिग्रस्त करने के साथ ही कई दुकानों में तोड़फोड़ की।

Advertisements

घटना के बाद शहर में जबरन दुकानों को बंद कराया जा रहा है। हत्या के विरोध में उग्र लोगो ने शहर के विभिन्न चौकों को टायर जला कर जाम कर दिया। लोग शव को एसपी आवास के सामने रख कर घेराव किये हुए है।

उक्त घटना पर डीएसपी राघव दयाल ने बताया कि, हत्या की वजह का अभी पता नहीं चल सका है। हालांकि उनकी हत्या राजनीतिक वजहों से होने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने घटनास्थल से तीन खोखे बरामद किये हैं और आसपास के दुकानों के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।

जानकारी के मुताबिक राकेश यादव कांग्रेस की स्थानीय राजनीति में काफी सक्रिय थे और हाजीपुर में कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव उनकी देखरेख में लड़ा था। बताया जा रहा है कि, वो महागठबंधन के नेताओं के भी चहेते थे और इस बार हाजीपुर विधानसभा सीट से टिकट के दावेदार थे। ऐसे में शहर के बीचों-बीच सुबह-सुबह युवा कांग्रेस नेता की हत्या से पुलिस की चौकसी पर फिर सवाल खड़ा हो गया है।

वहीं कांग्रेस के एक कार्यकर्ता सत्येंद्र यादव का कहना है कि, राकेश यादव काफी सौम्य स्वभाव के थे और आने वाले विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी के रूप में दावेदार थे। ऐसे में इसे राजनीतिक दुश्मनी के तौर पर की गई हत्या की आशंका जताई जा रही है।