Exclusive: मुख्यमंत्री रावत को मिलना चाहिए देश का सर्वश्रेष्ठ सीएम अवार्ड: रघुनाथ

रघुनाथ सिंह नेगी

मुख्यमंत्री रावत को मिलना चाहिए देश का सर्वश्रेष्ठ सीएम अवार्ड

 

– समाचार पत्रों में झूठे विज्ञापनों के सहारे कर चुके 40,000 करोड का निवेश
– धरातल पर नहीं उतरा 100 रुपए का भी निवेश
– एक वर्ष से अधिक समय बीत चुका है इन्वेस्टर्स समिट को
– झूठे विज्ञापनों पर खर्च कर डाले करोड़ों रुपए
– निवेश तो दूर, अब तक हो चुके हजारों उद्योग बंद
– मोर्चा पूर्व में कर चुका राजभवन से सीएम पर मुकदमा दर्ज करने की मांग

देहरादून। विकासनगर स्तिथ जनसंघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने आज दिनांक- 25/12/19 दिन बुधवार को अपना एक बयान जारी कर कहा कि, जनता से सफेद झूठ बोलने/धोखा देने के मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री/उद्योग मंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को देश का सर्वश्रेष्ठ सीएम अवार्ड मिलना चाहिए। रघुनाथ ने कहा दुर्भाग्य की बात है कि, गत वर्ष करोड़ों रुपए खर्च कर सरकार द्वारा इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया गया तथा उक्त के पश्चात सीएम त्रिवेंद्र लगातार हजारों करोड रुपए के निवेश को धरातल पर उतारने की बात कह चुके हैं।

गत माह पूर्व भी सरकार लगभग 40,000 करोड के निवेश की बात, धरातल पर उतार दिए जाने की बात समाचार पत्रों में झूठे विज्ञापनों के माध्यम से प्रसारित/प्रचारित कर चुकी है। ताजा आंकड़े इस बात के गवाह हैं कि, अब तक इन्वेस्टर्स समिट के एमओयू के सापेक्ष 100 रुपए का निवेश भी धरातल पर नहीं उतरा है, जो कि सिर्फ और सिर्फ झूठी वाह-वाही लूटने जैसा घृणित कार्य है।

Advertisements

मोर्चा अध्यक्ष नेगी ने कहा वास्तविकता यह है कि, अभी तक सिर्फ कागजों में यानी हवाई तौर पर 111 एमओयू पर कार्य चल रहा है, जिसमें 14,163 करोड, का निवेश होगा, लेकिन यह कब होगा ऊपरवाला ही जानता है। त्रिवेंद्र राज में अब तक हजारों जो बंद हो चुके हैं तथा हजारों उद्योग बंदी के कगार पर है।

मोर्चा पूर्व में भी सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ इन्वेस्टर समिट के झूठे निवेश के मामले में मुकदमा दर्ज कराने हेतु राजभवन से भी आग्रह कर चुका है। मोर्चा प्रदेश की जनता, खासकर युवाओं से आग्रह करता है कि, सरकार के इस सफेद झूठ का मुंह तोड़ जवाब दें तथा जागरूक हों।