गज़ब: भाभी ने देवर संग तो साली ने जीजा संग शादी रचा हड़पा सरकारी शादी अनुदान

भाभी ने देवर संग तो साली ने जीजा संग शादी रचा हड़पा सरकारी शादी अनुदान

 

– जांच के नाम पर लीपा-पोती में जुटे जिम्मेदार

गुवारा कौशाम्बी। योगी सरकार की सामूहिक विवाह योजना में भी छेद कर लोग सरकारी धन हड़पने से बाज नही आ रहे है। फर्जी तरीके से शादी कर शादी अनुदान हड़पने के मामले में सम्बन्धित विभाग के अधिकारी अपनी गर्दन फसते देख मामले पर पर्दा डालने का प्रयास ही बार-बार कर रहे है।

Advertisements

 

बताना जरूरी होगा कि, फर्जी तरीके से हड़पी गई शादी अनुदान की रकम अभी तक सरकारी खजाने में वापस नही जमा हो सकी है। बीते 15 नवम्बर को जनपद मुख्यालय के ओसा में सामूहिक विवाह कार्यक्रम में 610 जोड़े शादी बन्धन में बंधे थे, इसी में 20 मुस्लिम जोड़ों ने भी नयी जिंदगी शुरू की थी। लेकिन शादी अनुदान और कार्यक्रम के बाद करारी थाना क्षेत्र के सालेपुर गांव के लोगो द्वारा की गयी दो शादियां फर्जी निकली है।

 

इस गांव के एक शातिर ने अपने पुत्र वधु और शादी शुदा बेटी की मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में दोबारा शादी कराकर शादी अनुदान हड़प लिया है। जहां शातिर ने अपनी बहु की शादी देवर से करा दी। जबकि पहले पति से उसका तालाक नही हुआ है, और जिस महिला की देवर से शादी करायी गयी है, वह महिला पहले से दो बच्चो की मां है। वहीं शादीशुदा साली ने जीजा से शादी रचा कर शादी अनुदान हड़प लिया है।