दो दुकानों में आग लगने से हुआ लाखों का नुकसान

दो दुकानों में आग लगने से हुआ लाखों का नुकसान

 

– बड़ा हादसा होने से टला

पुरोला। मुख्य बाजार में सोमवार को हुए अग्निकांड से जहां रजाई गद्दे के व्यापारी आमीर पुत्र मोहम्मद आमीर के हजारों की रुई के बोरे जलकर राख हो गए, वहीं उसके बाजू में भारद्वाज पुस्तक भंडार के गोदाम में लाखों की कॉपी-किताबें एवं अन्य स्टेशनरी जलकर बर्बाद हो गई। समय रहते आग पर काबू पाया गया जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया।राजस्व उप निरीक्षक उपेन्द्र राणा ने बताया कि, नुकसान का जायजा लिया गया है। जिसमें तकरीबन 5 लाख का नुकसान होने का अनुमान है।

 

वहीं व्यापार मंडल के अध्यक्ष जगमोहन नौडियाल का कहना है कि, बाजार की आबादी बढ़ गयी है, लेकिन इस प्रकार की घटनाओं को देखते हुए सुरक्षा के कोई पुख्ता इंतजाम नही है। यहां पर अग्निश्मन की केवल एकमात्र छोटी गाड़ी रहती है, जो नाकाफी है। अग्निशमन केंद्र की भी लम्बे समय से भी मांग की जा रही है, लेकिन अभी तक नही खुल पाया।

Advertisements

 

सुरक्षा की दृष्टि से बाजार के अंतर्गत जगह-जगह पर फायर हाइड्रेंट सिस्टम लगने चाहिए जो अभी तक नहीं लगे हैं। नगर में कई बार आगजनी की घटनाएं हो चुकी हैं, लेकिन प्रशासन की ओर से अभी भी इस प्रकार की घटनाओं से बचने को कोई ठोस व्यवस्थाएँ नही हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण है। अग्निशमन अधिकारी सूरज चौहान ने बताया कि, लगभग 2 वर्ष पूर्व पुरोला में अग्निशमन केंद्र निर्माण को शासन स्तर से 2 करोड़ की स्वीकृति दी गयी है, सरकारी भूमि उपलब्ध होने पर ही यह स्थापित हो सकेगा।

 

दूसरी ओर जल संस्थान के एई एसएस रावत ने बताया कि, फायर हाई ड्रेस सिस्टम लगाने को लेकर शासन को एक वर्ष पूर्व प्रस्ताव भेज दिए गए हैं, स्वीकृति मिलते ही नौगांव, बडकोट, पुरोला में फायर हाइड्रेंट सिस्टम लगा दिया जाएगा। इसी क्रम में एसडीएम सोहन सिंह का कहना है कि, पुरोला मेंं फायर स्टेशन स्थापना को लेकर फायर विभाग ने सरकारी भूमि उपलब्ध कराने की पत्रावली दी है। पूर्व में भी सरकारी भूमि की तलाश की गई है। एक दो जगह भूमि देखी गयी है, जल्दी ही अंतिम रूप से फायर स्टेशन के लिए भूमि का चयन कर लिया जाएगा।