शिक्षा विभाग ने भेजा 1500 स्कूलों को नोटिस

शिक्षा विभाग ने भेजा 1500 स्कूलों को नोटिस

 

देहरादून। नैशनल एसोसिएशन फॉर पैरेंट्स एंड स्टूडेंट्स राइट्स (NAPSR) की शिकायत पर शिक्षा विभाग ने 1500 स्कूलों को नोटिस भेजा है। ज्ञात हो कि दिनांक- 23 नवम्बर 2019 दिन शनिवार को NAPSR ने डण्डा लखोण्ड मे चल रहे फर्जी स्कूल की शिकायत सम्बन्धी एक ज्ञापन मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा रानी पैन्यूली को सौंपा था, साथ ही उन्हें अवगत कराया था कि, पूरे उत्तराखंड मे इस प्रकार के सैकड़ो स्कूलों का संचालन नियम विरुद्ध किया जा रहा है।

 

बताना जरूरी होगा कि, जिसका संज्ञान लेते हुए मुख्य शिक्षा अधिकारी द्वारा एसोसिएशन को आश्वासन दिया गया था कि, दो दिन के भीतर ही नियम विरुद्ध संचालित हो रहे ऐसे स्कूलों के खिलाफ उचित कार्यवाही शिक्षा विभाग द्वारा की जाएगी।जिसके परिणाम स्वरूप ही शिक्षा विभाग द्वारा 1500 स्कूलों को नोटिस भेजा गया है। नैशनल एसोसिएशन फॉर पैरेंट्स एंड स्टूडेंट्स राइट्स (NAPSR) द्वारा बच्चों की शिक्षा और अभिभावकों के हित के लिए संघर्ष किया जा रहा है। जिसमे NAPSR काफी हद तक सफल भी रहा है। फिर वो चाहे NCERT लागू करवाना हो या फीस एक्ट और नियामक आयोग के लिए संघर्ष करना।

Advertisements

 

एसोसिएशन के अध्यक्ष आरिफ ने बताया कि, अभी तक NAPSR द्वारा अनगिनत स्कूलों की शिकायतें शिक्षा विभाग, बाल आयोग, CBSE, NCPCR, प्रधानमंत्री कार्यालय, से की जा चुकी हैं। जिसमे बाल शोषण, फीस व्रद्धि, कॉशन मनी, निजी स्कूल ट्रांसपोर्ट, बच्चों की सुरक्षा PTA, रिएडमिशन, इत्यादि मुख्य शिकायतें रही हैं। इस से पूर्व भी दो बार क्रमशः 22 व 27 स्कूलों को सिर्फ NAPSR की शिकायत पर कार्यवाई से रूबरू होना पड़ा है।

 

एसोसिएशन के अध्यक्ष आरिफ खान के अनुसार यदि सभी विभाग अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह सही और ईमानदारी से करने लगें तो हमे अभिभावक संघ बनाने की आवश्यकता ही न पड़े और बच्चों के प्रति हो रही क्रूरता व अभिभावकों का आर्थिक शोषण खत्म हो जाएगा।