भारी संख्या में नशीले इंजेक्शन के साथ अभियुक्त गिरफ्तार

भारी संख्या में नशीले इंजेक्शन के साथ अभियुक्त गिरफ्तार

 

– उत्तराखंड में पकड़ी गई इस साल के नशीले इंजेक्शन की सबसे बड़ी खेप

– ADTF व STF की टीम को मिली सफलता….

देहरादून। पुलिस उप महानिरीक्षक एसटीएफ उत्तराखण्ड के निर्देशानुसार अपर पुलिस अधीक्षक एसटीएफ के निर्देशन में एण्टी ड्रग टास्क फोर्स के द्वारा नशे की अवैध तस्करी के विरू़द्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत दिनांक- 6/11/2019 की रात्रि को पुलिस उपाधीक्षक, एसटीएफ के पर्यवेक्षण में ADTF-STF की टीम द्वारा एक शातिर अभियुक्त को नशीले इंजेक्शन की बड़ी खेप के साथ आशारोड़ी बैरियर से 1028 इन्जेक्शनो के साथ गिरफ्तार किया गया। जो अभी तक इस साल उत्तराखंड में नशीले इंजेक्शनों की सबसे बड़ी बरामदगी है।

 

जानकारी के अनुसार अभियुक्त उपरोक्त शातिराना तरीके से अपने वाहन संख्या UK07AT0038 Indica Vista कार में छुपाकर सहारनपुर से देहरादून लेकर आ रहा था। अभियुक्त के उक्त वाहन को भी NDPS Act की धारा के अंतर्गत पुलिस ने कब्जे में लिया है।

 

अभियुक्त का विवरण

महेंद्र सिंह उर्फ सोनू सरदार, पुत्र हरभजन सिंह, निवासी विंग न० 1, हाउस न० 20/3, प्रेमनगर, देहरादून, उम्र 43 वर्ष

 

पूछताछ का विवरण

पुलिस द्वारा पूछताछ में अभियुक्त महेंद्र उर्फ सोनू सरदार द्वारा बताया गया कि, उसके विरुद्ध NDPS के काफी मुकदमे है। इंजेक्शन की तस्करी में काफी मुनाफा होने के कारण वह सहारनपुर से किसी रहमान नाम के व्यक्ति से 100 रु का इंजेक्शन खरीद कर 400-500 रु में देहरादून में लाकर प्रेमनगर क्षेत्र में पढने वाले छात्रों तथा अन्य लोगो को बेचता था। प्रेमनगर में अपने घर के पास परचून की दुकान की आड़ में वह यह सारा काम करता था। जिससे पुलिस को शक न हो।

Advertisements

इसके अलावा प्रेमनगर स्थित सरकारी अस्पताल की ओएसटी सेंटर में नशे की आदत छुड़ाने का इलाज कराने वाले लोंगो से संपर्क कर उन्हें भी नशीले इंजेक्शन बेचने का कार्य करता था। प्रेमनगर में मुख्य रूप से दिलीप उर्फ टिक्की, सुमित, अंकित, अजय को प्रेमनगर क्षेत्र में इंजेक्शन बेचता था। जो इसका माल आगे जनपद देहरादून में नवयुवकों को सप्लाई करते थे। रहमान एव अन्य साथियों के विरुद्ध पुलिस द्वारा 29 NDPS Act की कार्यवाही की जा रही है।

 

अभियुक्त का आपराधिक इतिहास

● मु0अ0स0 229/08 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट थाना प्रेमनगर।
● मु0अ0स0 159/10 धारा 8/22 n d p s एक्ट थाना प्रेमनगर।
● मु0अ0स0 197/18 धारा 379/427/411 i p c थाना प्रेमनगर
● मु0अ0स0 142/09 धारा 8/22 n d p s act थाना प्रेमनगर
● Cr no 3/18 sec 8/22/27 NDPS act NCB DEHRADUN

 

पुलिस उप महानिरीक्षक एसटीएफ द्वारा पुलिस टीम को 2500 रु के पारितोषिक की घोषणा की गई है।

 

◆अपील◆

एण्टी ड्रग्स टास्क फोर्स की नोडल अधिकारी श्रीमती रिद्विम अग्रवाल, पुलिस उप महानिरीक्षक एसटीएफ उत्तराखण्ड द्वारा प्रदेश के समस्त युवाओ एवं छात्र-छात्राओं से अपील की जाती है कि, वह नशे के सौदागरों से सावधान रहे। नशे के सौदागर अपने फायदे के लिए युवाओं को नशे की आदत का शिकार बनाते है। नशा आपके जीवन को ही बरबाद नहीं करता बल्कि इससे आपका पूरा परिवार बरबाद हो जाता है। आप अपने भविष्य और सपनो को साकार कर देश की प्रगति में अपना योगदान करें और हमेशा नशे को ना कहे

 

 

नशे के सौदागरों के विरुद्ध अगर आप के पास कोई सूचना हो तो आप नीचे दिये गए हेल्प लाइन नंबर्स पर सूचना देने के अलावा मेरे नंबर 9411112479 पर भी दे सकते है। उत्तराखण्ड के समस्त जनपदों में एण्टी ड्रग्स टास्क फोर्स का गठन किया गया हैं, तथा समस्त टीमों को मेडिकल स्टोर पर निगरानी रखने के निर्देश दिये गए है कि, यदि मेेडिकल स्टोरो के द्वारा प्रतिबंधित नशे की गोलियां/इंजेक्शन अवैध बिक्री की जाती है, तो उनके विरूद्व सख्त कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

 

यदि कोई आपके आस-पास नशे का व्यापार कर रहा है, तो वह एण्टी ड्रग्स टास्क फोर्स के हेल्प लाइन नं0 01352656202 व whatsapp 9412029536 पर नशा बेचने वालों के विरूद्व जानकारी दे सकता है। जानकारी देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।