दो लोगो की हत्या कर लाश सडक किनारे फेकी

दो लोगो की हत्या कर लाश सडक किनारे फेकी

 

– दोनों ही हत्याओं पर परिजनों को संदेह….

– चरवा और मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र का मामला….

कौशाम्बी। जिले के चरवा और मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र में दो युवकों की अलग-अलग हत्या कर लाश सडक किनारे गढढे में फेक दी गई। सडक किनारे लाश पडी होने की सूचना ग्रामीणो ने पुलिस को दी है। दोनो लाश को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। दोनो लोगो को घर से बुलाकर उनके रिश्तेदार परिचित ले गये, और दोनो युवको की हत्या करने के बाद रिश्तेदार परिचित फरार है। खबर लिखे जाने तक दोनो हत्याओ का मुकदमा पुलिस ने नही दर्ज किया है।

 

बता दें कि, घटनाक्रम के मुताबिक मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के पिपरकुण्डी गांव निवासी लालचन्द्र उम्र 28 वर्ष पुत्र सुन्दर लाल एक ठेकेदार के साथ काम करते थे, ठेकेदार से उनका लाखो का लेनदेन था। बिहार प्रान्त के रहने वाले कमलेश कुमार नामक यह ठेकेदार लालचन्द्र को उसके घर से यह कहकर बुलाकर गुरूवार को ले गया था कि, इलाहाबाद जा रहे है। वापस लौट कर घर छोड देगें। लेकिन लालचन्द्र घर नही पहुच सका और उसकी लाश चरवा थाना क्षेत्र के काजू बेरवा के बीच सडक किनारे गढढे में मिली है।

Advertisements

 

इस मौत को कमलेश दुर्घटना बता रहे और कुछ देर बाद मौके से वह फरार हो गये है। जबकि कमलेश के साथ लालचन्द्र बाइक से गये थे, और यदि सडक दुर्घटना में लालचन्द्र की मौत हुयी तो कमलेश को चोट क्यों नही आई? और दुर्घटना के बाद तुरन्त मामले की सूचना पुलिस को क्यों नही दी गई? घटनास्थल पर कोई खून भी पड़ा नही मिला, और दुर्घटना के किसी प्रकार के साक्ष्य मौजूद नही है। वही इलाहाबाद से वापस आने वाली सड़क पर लाश नही मिली। जिससे लालचन्द्र की हत्या कर लाश को ठिकाने लगाने की घटना से इंकार नही किया जा सकता।

 

 

दूसरी घटना मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के देवखरपुर गांव की है । रघवापुर निवासी शिवकरन उम्र 30 वर्ष पुत्र ओमप्रकाश की ससुराल देवखरपुर गांव में है, और गुरूवार को शिवकरण अपनी ससुराल देवखरपुर आया था। जहॉ शिवकरण को उसके चचेरे साले मुकेश कुमार और बारातफारिक गांव का एक युवक घर से बुला कर ले गये थे, और आधी रात को शिवकरन की लाश सडक किनारे गढढे में पडी मिली थी। मौके से मृतक शिवकरन का साला और दूसरा युवक गायब है।

 

तीन लोगो के साथ बाइक में बीच मे बैठे शिवकरन की सडक दुर्घटना में मौत की बात बताने वालो को इसी हादसे में खरोच तक नही आई है। जिससे उनकी बातो को हजम करना कठिन है। लाश भी सडक के किनारे गढढे में मिली है। यह घटना भी हत्या की ओर इशारा कर रही है। परिजनो ने हत्या का आरोप भी लगाया है। पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। दोनो मामलो की यदि पुलिस आलाधिकारियो ने सूक्ष्म जॉच करायी तो हत्यारे जेल के पीछे होगे।