दुःखद: डेंगू से पंतनगर विवि कर्मी की मौत, बेसहारा हुए पत्नी और बच्चे

डेंगू से पंतनगर विवि कर्मी की मौत, बेसहारा हुए पत्नी और बच्चे

 

– क्षेत्र में दिन-प्रतिदिन बढ़ रही डेंगू के मरीजों की तादाद….

पंतनगर। विवि के डीन पीजीएस कार्यालय में पत्रवाहक पद पर कार्यरत त्रिलोचन भट्ट (40) की डेंगू से मौत हो गई। त्रिलोचन भट्ट परिवार के साथ सुभाष कॉलोनी में रहते थे। परिजनों ने बताया कि, एक सप्ताह पहले त्रिलोचन को बुखार आया था। जांच में मलेरिया की पुष्टि होने पर त्रिलोचन का नगला पंतनगर से इलाज कराया गया।

 

 

बताते चलें कि, स्वास्थ्य में सुधार नहीं होने के चलते उन्हें रुद्रपुर के निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां उनमें डेंगू की पुष्टि हुई। हालत गंभीर होने पर परिजन उन्हें राममूर्ति (भोजीपुरा) ले गए। जहां इलाज के दौरान उन्होंने मंगलवार रात दम तोड़ दिया। बुधवार को चित्रशिला घाट रानीबाग में उनकी अंत्येष्टि की गई। मृतक अपने पीछे पत्नी, पुत्र और पुत्री को रोता बिलखता छोड़ गए हैं। वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष त्रिलोकी शंकर मिश्रा और लिपिकीय संवर्ग के अध्यक्ष पीसी भंडारी ने त्रिलोचन के निधन पर शोक व्यक्त किया।

Advertisements

 

 

वहीं गुरुग्राम के पूर्व प्रधान को भी डेंगू हो गया। रुद्रपुर के निजी अस्पताल में भर्ती है। क्षेत्र में दिन प्रतिदिन डेंगू मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही है। मंगलवार को पूर्व प्रधान में डेंगू के लक्षण पाए जाने पर उन्हें रुद्रपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 

 

बता दें कि 26 अक्तूबर को नगर निवासी संगीता खान की डेंगू से मौत हो गई थी। संगीता की सास प्रभाती खान को भी डेंगू हो गया। उनका देहरादून के जौलीग्रांट अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं, मंगलवार को गुरुग्राम गांव निवासी महेंद्र मंडल में भी डेंगू के लक्षण पाए जाने पर उसे भोजीपुरा के राममूर्ति अस्पताल में भर्ती कराया गया। इधर, गुरुग्राम (शक्तिफार्म) के पूर्व प्रधान रविंद्र खान में भी डेंगू के लक्षण पाए गए। परिजनों ने उन्हें रुद्रपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया है।