Exclusive: जनता का राशान कोटेदार के पेट में

जनता का राशान कोटेदार के पेट में

 

– जांच को पहुंचे पूर्ति विभाग के अधिकारियों से ग्रामीणों ने बताई पीड़ा….

कौशांबी। नेवादा विकासखंड के किशनपुर अंबारी गांव में राशन कटौती की शिकायत पिछले दिनों ग्रामीणों ने जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा से की थी। ग्रामीणों की शिकायत को गंभीरता पूर्वक लेते हुए जिलाधिकारी ने पूर्ति विभाग के अफसरों को जांच कर कार्रवाई करने के आदेश दिए थे। जिलाधिकारी के आदेश पर बीते गुरुवार जांच करने पहुंचे पूर्ति विभाग के अफसरों से ग्रामीणों ने अपनी व्यथा व्यक्त किया।

 

 

गांव के मेडिया, सुमन, मालती देवी, ननकी देवी, सरोज देवी, विमला देवी, रेखा देवी, गीता, प्रभावती, दुलारी, कुसुम, मुनिया, उर्मिला सहित 2 दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने जांच करने पहुंचे पूर्ति विभाग के अफसर चायल इंस्पेक्टर निखिल सिंह व नेवादा इंस्पेक्टर शुक्ला जी को बताया कि, कोटेदार द्वारा समय से राशन का वितरण नहीं किया जाता, इतना ही नहीं शासन द्वारा निर्धारित सरकारी रेट से अधिक रुपयों की जबरन वसूली की जाती है। तथा प्रत्येक यूनिट के हिसाब से भी कम राशन उन्हें दिया जाता है। वहीं केरोसिन का वितरण प्रत्येक माह के स्थान पर 3 माह में एक बार किया जाता है।

Advertisements

ग्रामीणों ने बताया कि, 1 लीटर की कीमत हर जगह 35 रुपये लीटर जाती है, जबकि हमारे गांव में 1 लीटर केरोसिन की कीमत कोटेदार द्वारा जबरन 45 रु वसूल की जाती है। यदि इस बात का ग्रामीण विरोध करते हैं, तो उन्हें राशन व केरोसिन न देने की कोटेदार द्वारा धमकी दी जाती है। यदि वह लोग शिकायत की बात करते हैं, तो कोटेदार उन्हें गाली गलौच देकर मारपीट में अमादा हो जाता है। गौरतलब है कि, कोटेदार की दबंगई सिर चढ़कर बोल रही है।

 

 

ग्रामीणों ने यह भी बताया कि, इसके पहले भी कई बार दबंग कोटेदार की शिकायत उच्चाधिकारियों से की गई लेकिन कोई कार्यवाही न होने से उक्त कोटेदार के हौसले बुलंद हैं। अब देखना यह है कि, इस मामले में कोई कार्यवाही होती है, या हर बार की तरह फिर इस बार भी मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है।