मोर्चा ने गिनाए सीएम को सीएम द्वारा किये गए भ्रष्टाचार, क्या सीएम वाकई करेंगे खुद पर कार्यवाही: नेगी

Raghunath singh negi

मोर्चा ने गिनाए सीएम को सीएम द्वारा किये गए भ्रष्टाचार, क्या सीएम वाकई करेंगे खुद पर कार्यवाही

– सीरियल अटैक की दूसरी कड़ी में सीएम कब करायेंगे अपनी सम्पत्ति की जाँच

- वर्ष 2017 में की थी, भारत निर्वाचन आयोग में शिकायत

 

देहरादून। जनसंघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने अपना एक बयान जारी किया है, जिसमें उन्होंने कहा कि, मुख्यमन्त्री त्रिवेन्द्र रावत के बयान भ्रष्टाचार है तो तुरन्त बतायें की कड़ी में मोर्चा द्वारा मुख्यमन्त्री पर सिलसिलेवार प्रहार किये जाने की घोषणा की गयी थी।

 

– भारत निर्वाचन आयोग ने सीबीडीटी को दिये थे जाँच के निर्देश

Advertisements

 

बता दें कि, उक्त मामले में दूसरा अटैक करते हुए मोर्चा अध्यक्ष नेगी ने कहा कि, त्रिवेन्द्र रावत द्वारा वर्ष 2017 में विधानसभा चुनाव के नामांकन पत्र में भारत निर्वाचन आयोग के समक्ष झूठी उम्र व सम्पत्ति मामले में 30/10/2017 को मोर्चा द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई थी, जिसमें रावत द्वारा अपनी करोड़ों रूपये मूल्य की सम्पत्ति को बहुत कम मूल्य में दर्शाना, काली कमाई से अर्जित सम्पत्ति व झूठे शपथ-पत्र आदि प्रस्तुत किये गये थे।

 

- मोर्चा द्वारा राजभवन व मुख्य से की थी जाँच की माँग

गौरतालब है कि, मोर्चा के तथ्यों की गम्भीरता को देखते हुए भारत निर्वाचन आयोग ने दिनांक- 19/10/2017 को सेंट्रल बोर्ड फार डायरेक्टर टेक्सेस (सीबीडीटी) को जाँच के निर्देश दिये थे। मोर्चा द्वारा उक्त मामले की शिकायत मुख्य सचिव व राजभवन से की गयी थी, तथा राजभवन ने भी मामले में कार्यवाही के निर्देश दिये थे।

 

मोर्चा मुख्यमन्त्री त्रिवेन्द्र से माँग करता है कि, उक्त भ्रष्टाचार वाली काली कमाई की सम्पत्ति एवं झूठे तथ्यों के मामले में स्वयं के खिलाफ जाँच करायें।