बर्खास्त कर्मी के विश्वासघात से बालकृष्ण को आया हृदयाघात

बर्खास्त कर्मी के विश्वासघात से बालकृष्ण को आया हृदयाघात

– बालकृष्ण ऋषिकेश ऐम्स में भर्ती हालत नाजुक….

देहरादून। पतंजलि योगपीठ के मुख्य कार्याधिकारी बालकृष्ण जिन्हें योग के साथ-साथ सभी आयुर्वेदिक औषधियों का ज्ञान है, और कैसे निरोग रहा जाता है यह शायद उनसे बेहतर कोई नही जनता। पूरे विश्व में विख्यात पतंजलि योगपीठ पर से अब लोगों का विश्वास उठने लगा है, आम जन मानस का यही कहना है कि दुनिया भर में योग निरोग का प्रचार करने वाले आज खुद रोग के शिकार कैसे हो गए।

 

बता दें कि, पतंजलि संस्थान में नौकरी से निकाल दिए गए एक व्यक्ति द्वारा जबरन अनुरोध करके बालकृष्ण को पेड़ा खिलाया गया था। जिसे खाने से बालकृष्ण की तबीयत बिगड़ गई और उन्हें तत्काल बेहोशी आने लगी।

Advertisements

बिहोशी आने पर उन्हें पहले भूमा निकेतन अस्पताल ले जाया गया, वहां हालात नाजुक होने पर उन्हें तत्काल ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती करा दिया गया। अभी भी बालकृष्ण की हालत नाजुक बनी हुई है। स्वामी रामदेव ने बालकृष्ण के लिए चिंता जताने वाले लोगों के नाम एक संदेश मे कहा है कि, जन्माष्टमी के मौके पर एक व्यक्ति पेड़ा लेकर आया था, जिसके कारण उन्हें कुछ घंटे की बेहोशी आ गई थी। वह जल्दी ही स्वस्थ हो जाएंगे।

 

बहरहाल योग पीठ संस्थान ने पेड़े वाला डिब्बा फॉरेंसिक जांच के लिए कब्जे में ले लिया है। जल्द ही इसका खुलासा फोरेंसिक जांच के द्वारा हो जाएगा कि, पेड़े में आखिर कौनसा पदार्थ मिलाया गया था जिसे खाते ही बालकृष्ण बेहोश हो गए। बालकृष्ण को पेड़ा खिलाने वाला व्यक्ति पहले पतंजलि योगपीठ के ही दूसरे संस्थान पदार्था में काम करता था।

आज वह व्यक्ति मिठाई के डिब्बे में पेड़ा लेकर आया और उसे आचार्य बालकृष्ण को जबरन खिला दिया था। एम्स के द्वारा जारी किए गए स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार उनकी हालत स्थिर है।