भारी बारिश से जौनसार बावर क्षेत्र में जन-जीवन अस्त-व्यस्त

भारी बारिश से जौनसार बावर क्षेत्र में जन-जीवन अस्त-व्यस्त

– गंगोत्री-यमुनोत्री मुख्य मार्ग में आवाजाही हुई बंद….

देहरादून। लगातार हो रही बारिश से जौनसार बावर क्षेत्र में जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। भारी बारिश के कारण क्षेत्र की लगभग सड़कें बन्द होने की वजह से आवाजाही बंद हो गई है, व कबावर क्षेत्र के 120 गांव का संपर्क भी कट चुका है।

 

बीते दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण नदियाँ उफान पर हैं। जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। नदी-किनारे रह रहे लोगो को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के प्रयास किये जा रहे है। यमुना व टोंस नदी भी खतरे के निशान को पार कर चुकी है। साथ ही राजधानी में भी मुख्य नदियाँ रिस्पना, बिंदाल, सॉंग का भी भर कर चल रही है।

टोंस ओर यमुना नदी में सिल्ट की मात्रा बढ़ने से विधुत उत्पादन में परेशानी….

देहरादून के चार पॉवर हाउसों में बिजली उत्पादन ठप्प को गया है। पछवादून में भी चार जल विद्युत परियोजनाओं में बिजली उत्पादन बन्द हो गया है। टोंस ओर यमुना नदी में सिल्ट की मात्रा बढ़ने से विधुत उत्पादन में परेशानी आ गई। 240 मेगावाट के छिबरो, 120 मेगावाट के खोदरी, 33.75 मेगावाट के ढकरानी ओर 51 मेगावाट के ढालीपुर पॉवर हाउस में भी उत्पादन ठप्प हो गया है।

Advertisements

आपदा सचिव अमित नेगी व आईजी संजय गुंज्याल ने किया प्रभावित क्षेत्र का दौरा….

एसडीएम बड़कोट एवं एसओ मोरी आराकोट ने मौके पर पहुंचकर नेशनल हाईवे नोटाधार को चालू करवाया। प्रभावित क्षेत्रों में सभी प्रकार की आवश्यक सामग्री भी उपलब्ध करा दी जाएंगी। आज आपदा सचिव अमित नेगी एवं आईजी संजय गुंज्याल द्वारा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया गया। कल की भारी बारिश के कारण मची तबाही से उत्तरकाशी जिले के आराकोट में बादल फटने से लोगों में भय का माहौल है। इस आपदा में अभी तक 8 शव बरामद हुवे हैं, व अन्य 17 के हताहत होने की आंशका है। क्षेत्र में रेस्क्यू अभियान अभी जारी है।

बारिश के चलते कुछ क्षेत्रों में नुकसान होने की आशंका….

वहीं मौसम विभाग ने भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है। अगले 24 घण्टे में भारी बारिश होने के अलर्ट जारी किए। देहरादून, उत्तरकाशी, चमोली, पिथोरागढ़, नैनीताल ओर पौड़ी जिले में तेज बारिश की चेतावनी है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि, इस बारिश के चलते कुछ क्षेत्रों में नुकसान होने की आशंका बताई है।

 

बीते दिनों से लगातर हो रही बारिश के चलते अभी तक उत्तरकाशी जिले के 47 हजार से ज्यादा लोग इस आपदा में प्रभावित हुवे हैं। 24 घंटे के बाद सरकार द्वारा कप्रभावित क्षेत्र में मदद पहुँचाई गई है। इस बारिश के चलते हो रहे भुस्खलन से गंगोत्री-यमुनोत्री हाइवे समेत जिले के मुख्य मार्ग आवाजाही में अवरुद्ध हैं। साथ ही चार धाम यात्रा भी स्थगित कर दी गई है।