प्रधानमंत्री आवास योजना में बड़ा घोटाला

 

प्रधानमंत्री आवास योजना में बड़ा घोटाला

देहरादून। ब्लॉक सहसपुर के ग्राम सभा कोटला सन्तोर में प्रधानमंत्री आवास योजना तय करने में अधिकारियों ने भ्रष्टाचार के सारे मानकों को ताक पर रख, प्रदेश के बाहर से आए खनन मजदूरों को प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए चयनित किया। चयन प्रक्रिया में इस बात पर जरा भी ध्यान नहीं दिया गया कि, ग्राम सभा में रहने वाले एक भी व्यक्ति का चयन प्रधानमंत्री आवास योजना में नहीं किया गया।

पात्रता तय करने में अधिकारियों ने दिखाई जल्दबाजी….

Advertisements

आपको बता दें कि, हमारे संवाददाता द्वारा जब इस प्रक्रिया की जानकारी जानी गई तो ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारी द्वारा इस बात का कोई साक्ष्य प्रस्तुत नहीं किया गया कि, भूमिहीन परिवारों को दिए जाने वाले प्रधानमंत्री आवास योजना में चयनित व्यक्ति वास्तव में भूमिहीन परिवार हैं या नहीं। हमारी खोजी पत्रकारिता के अनुसार चयन व्यक्तियों में ऐसे व्यक्तियों का भी चयन है, जिसके नाम पर उसी ब्लॉक में पुश्तैनी भूमि है।

 

ऐसा हमें ज्ञात हुआ है। जिसके साक्ष्य भी हमारे पास उपलब्ध हैं। प्रदेश के बाहर से आए इन खनन मजदूरों को किस तरह से लाभ पहुंचाया गया। इसकी शुरुआत इनको बनाकर दिए गए राशन डीलर द्वारा होती है। इसमें ग्राम प्रधान की मिलीभगत भी साफ नजर आती है। सूत्रों से यह भी ज्ञात हुआ है कि, इनको प्रधानमंत्री आवास योजना में चयन करने पर मोटी रकम वसूली गई है।