कारनामा: शिक्षा विभाग में मृतक और रिटायर्ड शिक्षकों का प्रमोशन

361

शिक्षा विभाग में मृतक और रिटायर्ड शिक्षकों का प्रमोशन

– जिंदा इंसान की पूछी न बात, मरे हुए को दूध और भात

देहरादून। इन दिनों प्रधानाध्यापकों के पदों के प्रमोशन की सूची जारी हुई। जिसमें शिक्षा विभाग की चूक और अधिकारियों की लापरवाही सामने आई है। गजब की बात है कि, 9 ऐसे शिक्षकों के प्रमोशन कर दिए गए हैं जो स्वर्ग सिधार चुके हैं। जबकि 8 रिटायर हो चुके हैं।

इससे साफ पता लगता है कि, विभागीय अधिकारियों या फिर जिम्मेदार लोगो ने जारी लिस्ट को देखा ही नहीं और अंधेरे में ताबड़-तोड़ प्रमोशन कर दिए। यही नहीं दो ऐसे प्रधानाध्यापकों को दोबारा प्रधानाध्यापक बनाया गया है।

इन प्रकरणों के अलावा 40 फीसद से ज्यादा शिक्षकों को इसका लाभ नहीं मिलने जा रहा है। इनमें से करीब 211 शिक्षक सेवाकाल कम होने के कारण प्रधानाचार्य पद तक नहीं पहुंच पाएंगे। 39 इस वक्त सत्रांत लाभ पर होने के कारण ज्यादा फायदे में नहीं रहे। 108 शिक्षक मार्च 2022 तक रिटायर होने जा रहे हैं। इस बात की पूरी संभावना है कि, सेवाकाल कम होने के कारण ज्यादातर शिक्षक प्रमोशन न लें और न ही तैनाती स्थल पर जाएं।

Previous articleगजब: अक्षय ऊर्जा के नाम पर काटे हजारों पेड़, कब्जाई जमीन। ग्रामीणों का जीना मुहाल
Next articleगजब: नम्बर बढ़ाने की होड़ में प्रधानपति बने प्रधान, बैनर पर चस्पा किये नाम