ब्रेकिंग: 30 हजार की ईनामी अपराधी गिरफ्तार। यह है पूरा मामला

30 हजार की ईनामी अपराधी गिरफ्तार। यह है पूरा मामला

देहरादून। स्पेशल टास्क फोर्स को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बता दें कि, एसटीएफ ने 30 हजार रुपए की ईनामी अपराधी को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गिरफ्तार की गई अपराधी क्लेमेंटाउन के एक चर्चित मामले से जुड़ी हुई है।

उत्तराखण्ड के डीजीपी के निर्देशों के अनुक्रम में एसएसपी एसटीएफ उत्तराखण्ड के पर्यवेक्षण में थाना क्लेमनटाउन देहरादून में पंजीकृत मु०अ०सं० 8/22 धारा 395/397/448/ 452/447/427/323/506 भादवि में वांछित/ईनामी अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ की एक टीम गठित की गई।

निरीक्षक अबुल कलाम के नेतृत्व में वांछित/ईनामी अपराधियों की धरपकड़ के लिए टीम को उत्तर प्रदेश व नई दिल्ली भेजा गया। जहां 21 मई 2022 को 30 हजार के दो वांछित/शातिर ईनामी अपराधी मोना रंधावा पुत्री सतपाल सिंह निवासी क्लेमेनटाउन देहरादून को मुखबिर की सूचना पर नंद नगर दिलशाद गार्डन दिल्ली से गिरफ्तार किया गया।

Advertisements

गिरफ्तार होने वाली ईनामी अभियुक्ता मोना रंधावा पुत्री सतपाल सिंह निवासी क्लेमेनटाउन देहरादून हैं।

पुलिस टीम

  • पुलिस टीम निरीक्षक अबुल कलाम (एसटीएफ उत्तराखंड, देहरादून),
  • उ०नि० यादविन्दर बाजवा (एसटीएफ उत्तराखंड, देहरादून)
  • हे०का० वेदप्रकाश भट्ट (एसटीएफ उत्तराखंड देहरादून)
  • का० मोहन असवाल (एसटीएफ उत्तराखण्ड, देहरादून)
  • का० महेन्द्र नेगी (एसटीएफ उत्तराखंड, देहरादून)
  • का० ब्रिजेंद्र चौहान (एसटीएफ उत्तराखंड, देहरादून) शामिल रहे।

बताते चलें कि, देहरादून क्लेमेंटाउन में दिवंगत नेवी अधिकारी की कोठी को गिराकर उक्त प्रॉपर्टी पर कब्जा करने में मामले में काफी समय से पुलिस को चकमा दे रहे ईनामी अपराधी अमित यादव व सौरभ कपूर को एसटीएफ ने पहले ही नोएडा गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि मोना रंधावा पुलिस की पकड़ में नहीं आ रही है। अब मोना रंधावा को गिरफ्तार करने में भी एसटीएफ को सफलता मिल गई है।