सावधान: क्रिसमस और नववर्ष को लेकर एसओपी जारी। इन बातों का रखें ध्यान

क्रिसमस और नववर्ष को लेकर एसओपी जारी। इन बातों का रखें ध्यान

राजधानी दून में ओमिक्रॉन की दस्तक के साथ जिला प्रशासन ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। जिले में अब किसी भी आयोजन में अधिकतम 100 लोग ही जमा हो सकेंगे। इसमें नए साल का जश्न भी शामिल है। खास बात यह है कि होटल में केवल उन्हीं लोगों को प्रवेश मिलेगा, जिन्होंने पहले से बुकिंग करवा रखी है। जिलाधिकारी डॉ. आर राजेश कुमार ने शुक्रवार को इसके आदेश जारी किए।

नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को वैरिएंट ऑफ कंसंर्न (वीओसी) घोषित किया

जिलाधिकारी डॉ. राजेश ने बताया कि डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को वैरिएंट ऑफ कंसंर्न (वीओसी) घोषित किया है। यह बेहद तेजी से फैलने की क्षमता रखता है। भारत सरकार के सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने ऑमिक्रॉन की प्रभावी रोकथाम के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने बताया कि ओमिक्रॉन की रोकथाम को देखते हुए क्रिसमस और नव वर्ष के मौके के लिए एसओपी जारी की गई है।

Advertisements

इसके अनुसार नव वर्ष का कार्यक्रम सादे रूप से ही मनाया जाएगा। जिसमें अधिकतम 100 लोग ही शामिल हो सकेंगे। होटल स्वामियों को कमरों और परिसर को नियमित रूप से सैनिटाइज करना होगा। दिशा-निर्देशों के उल्लंघन पर संबंधित होटल स्वामी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी निर्धारित की जाएगी।

उन्होंने बताया कि अन्य राज्य से आ रहे पर्यटकों को आने से 72 घंटे पहले की नेगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट या डबल डोज वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र लाना अनिवार्य होगा। संक्रमण रोकथाम के लिए सभी आयोजित कार्यक्रम अधिकतम रात 10 बजे तक ही किए जा सकेंगे। माइक्रो कंटेनमेंट जोन में किसी भी तरह के आयोजन संबंधी गतिविधियां पूरी तरह वर्जित होंगी।

जिला देहरादून के निवासियों व पर्यटकों द्वारा सार्वजनिक स्थलों व कार्य स्थलों पर अनिवार्य रूप से मास्क पहनना होगा। उन्हें सामाजिक दूरी का भी कड़ाई से अनुपालन करना होगा। ऐसा न करने पर आपदा प्रबंधन के तहत कार्रवाई की जाएगी।