वसीम रिजवी के खिलाफ मुस्लिम समाज में आक्रोश। जमीयत उलमाए हिन्द ने दी तहरीर, मुकदमे की मांग

वसीम रिजवी के खिलाफ मुस्लिम समाज में आक्रोश। जमीयत उलमाए हिन्द ने दी तहरीर, मुकदमे की मांग

रिपोर्ट- सलमान मलिक
रुड़की। यूपी शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी की विवादित किताब के विमोचन के बाद मुस्लिम समुदाय में भारी आक्रोश है। रूड़की में जमीयत उलमाए हिन्द ने एसपी देहात कार्यालय पहुंचकर वसीम रिज़वी और नरसिंहानंद के खिलाफ तहरीर दी है।

इस दौरान जमीयत उलमाए हिन्द के प्रदेश अध्यक्ष मौलाना आरिफ़ ने कहा कि, वसीम रिज़वी और नरसिंहानंद देश का माहौल खराब करना चाहते है। जमीयत उलमाए हिन्द के पदाधिकारियों ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है।

गौरतलब है कि, हरिद्वार प्रेस क्लब में यूपी शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी की विवादित किताब के विमोचन के बाद मुस्लिम समुदाय में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। उत्तराखंड जमीयत उलमाए हिन्द में भी वसीम रिज़वी के खिलाफ भारी रोष व्यापत है। वहीं जमीयत ने एसपी देहात को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है।

इस मौके पर जमीअत उलमाए हिंद के प्रदेश अध्यक्ष मौलाना आरिफ ने बड़ी बेबाकी के साथ कहा कि, वसीम रिजवी और नरसिंहानंद इस देश के माहौल को खराब करना चाहते हैं, यह देश गंगा जमुनी तहजीब का रहा है आज भी लोग मिलजुल कर रहते हैं और अपने त्यौहार मनाते हैं।

Advertisements

लेकिन वसीम रिजवी और नरसिंहानंद देश और प्रदेश के भाईचारे और आपसी सौहार्द को खत्म कर देना चाहते हैं। जिसमें वह कभी कामयाब नहीं होंगे। अगर ये दोनों इसी तरह से बयान बाजी और इस्लाम विरोधी काम करते रहे तो मुस्लिम समाज सड़कों पर उतर कर उनके खिलाफ आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएगा।

वहीं इस बाबत मौलाना अरशद ने कहा कि, वसीम रिजवी का इस्लाम से दूर-दूर तक का भी कोई नाता नहीं है। वसीम रिजवी मुसलमान नहीं है। जो अपने पैगंबर को नहीं मान सकता, वह इस्लाम में दाखिल नहीं हो सकता। इसलिए वसीम रिजवी के खिलाफ पुलिस को भी सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

इस दौरान कारी शमीम ने भी वसीम रिजवी पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि, वसीम रिजवी इस देश की एकता और अखंडता को खत्म कर देना चाहता है और तरह-तरह के हथकंडे अपना रहा है, जिसे देश की जनता भली-भांति जान चुकी है।