दशहरा मेले में पहुंचे मुख्यमंत्री। कहा, हम सभी के लिए प्रेरणा है मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का जीवन

दशहरा मेले में पहुंचे मुख्यमंत्री। कहा, हम सभी के लिए प्रेरणा है मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का जीवन

देहरादून में लक्ष्मण चौक वैलफेयर सोसाइटी द्वारा आयोजित रावण दहन व दशहरा मेला में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री ने उपस्थित लोगों को विजयादशमी की बधाई देते हुए कहा कि, यह पावन पर्व सभी के जीवन में सुख शांति और समृद्धि लेकर आए।

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का जीवन हम सभी के लिये प्रेरणा हैं। उन्होंने समाज के हर वर्ग को जोड़ने का काम किया। उन्होंने शबरी के बेर खाकर सामाजिक समानता का संदेश दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पूरी दुनिया में भारत का मान-सम्मान बढा है। शक्तिशाली, गौरवशाली भारत के रूप में देश आगे बढ रहा है। प्रधानमंत्री ने हमें वर्ष 2025 में उत्तराखण्ड को हर क्षेत्र में नम्बर वन राज्य बनाने का लक्ष्य दिया है। दशहरे के पावन पर्व पर हम इसके लिये संकल्प लेते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि, हमारी सरकार अंत्योदय के सिद्धांत पर काम कर रही है। अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक शासन-प्रशासन पहुंचे और विकास का लाभ मिले, इस पर काम किया जा रहा है। मलिन बस्तियों को बनाए रखने के लिए कैबिनेट में निर्णय लेते हुए समयावधि को तीन वर्ष के लिए बढाया गया। जो गरीब भाई-बहन नजूल की भूमि पर रहते हैं, उनके लिये भी सरकार एक्ट लाएगी।

Advertisements

मुख्यमंत्री ने कहा कि, प्रदेश के नौजवानों का हित हमारे लिए सर्वोच्च प्राथमिकता है। हमने 24 हजार सरकारी रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू की है। कोरोना के दृष्टिगत आवेदन के लिए आयु सीमा में एक वर्ष की छूट दी है। अब प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए हमारे नौजवान भाई बहनों को आवेदन शुल्क नहीं देना होगा।

कोरोना से राहत देने के लिए पर्यटन, परिवहन, स्वास्थ्य, स्वयं सहायता समूहों, युवा मंगल दलों और महिला मंगल दलों के लिए करोड़ो का पैकेज दिया है। इनके खातों में पैसा पहुंचना भी शुरू हो गया है। पुलिस, रेवेन्यू व अन्य विभागों के कोरोना वारियर्स को प्रोत्साहन राशि दी जा रही है।

इस अवसर पर कैबिनट मंत्री गणेश जोशी, सांसद नरेश बंसल, विधायक खजान दास, मेयर देहरादून सुनील उनियाल गामा, सोसाइटी के अध्यक्ष कमलेश अग्रवाल, महामंत्री प्रदीप दुग्गल आदि गणमान्य उपस्थित थे।