अपराध: विधानसभा में नौकरी लगवाने के नाम पर नौ लाख की ठगी

विधानसभा में नौकरी लगवाने के नाम पर नौ लाख की ठगी

विधानसभा में नौकरी लगाने के नाम पर दो व्यक्तियों ने तीन युवकों से नौ लाख रुपये ठग लिए। दोनो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। अब उत्तराखंड में लगातार इस तरह की ठगी की घटनायें सामने आ रही हैं। आये दिन ठग लोगो को झांसा देकर शिकार बना ले रहें हैं।

दरअसल, यशपाल सिंह निवासी नेहरू कालोनी की मुलाकात 31 जुलाई 2021 को प्रवेश खंडूरी निवासी कारगी चौक से हुई। प्रवेश ने यशपाल सिंह को बताया कि, विधानसभा में कुछ नौकरी निकलने वाली हैं। उसकी राज्यपाल और ओएनजीसी के डायरेक्टर से अच्छी जान पहचान है, इसलिए वह आसानी से नौकरी लगवा देगा।

यशपाल सिंह के हामी भरने पर प्रवेश ने उनकी मुलाकात पशुपति हाइट्स दून यूनिवर्सिटी रोड निवासी अनिरुद्ध शर्मा से करवाई। अनिरुद्ध ने कहा कि, वह आठ युवकों की नौकरी लगवा सकता है। एक महीने के अंदर नियुक्ति पत्र मिल जाएगा। एक आदमी को नौकरी पर लगवाने के 10 लाख रुपये लगेंगे।

यशपाल सिंह ने भाई मोहन सिंह व उसके दोस्त अतुल रावत को तैयार किया। साथ ही अनिरुद्ध ने आधी धनराशि पहले और आधी नियुक्ति पत्र मिल जाने के बाद देने की बात कही। यशपाल को पूरी तरह अपने झांसे में लेने के लिए अनिरुद्ध ने स्पीकर आन करके किसी को ओएनजीसी का डायरेक्टर बताते हुए बात भी करवाई।

Advertisements

जिसके बाद तीनों ने जुलाई में रिश्तेदारों से रुपये उधार लेकर कुल नौ लाख रुपये और शैक्षिक प्रमाणपत्र दे दिए। सितंबर तक नियुक्ति पत्र न मिलने के चलते प्रवेश खंडूरी व अनिरुद्ध शर्मा से बात की। उन्होंने थोड़ा और इंतजार करने को कहा और इसके बाद टाल-मटोल करने लगे।

अब अभी तक ना तो रुपये वापस किए और ना ही नौकरी लगवाई। वहीं इंस्पेक्टर नेहरू कालोनी सतबीर बिष्ट ने बताया कि, आरोपित प्रवेश खंडूरी और अनिरुद्ध शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।