गजब: घरवालों ने बुजुर्ग महिला को जबरन कराया नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती। निरीक्षण करने गयी टीम हैरान

घरवालों ने बुजुर्ग महिला को जबरन कराया नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती। निरीक्षण करने गयी टीम हैरान

 

देहरादून। नशा मुक्ति केंद्रो के निरीक्षण करने गयी टीम एक मामले को देखकर हैरान हो गयी। जहां घरवालों ने बिना वजह ही बुजुर्ग महिला को भर्ती करा दिया।

अधिकारियों की उस वक्त आंखे खुली की खुली रह गईं जब पता चला कि, यहां तो नशा न करने वालों को भी भर्ती कराया गया है। यहां एक महिला ने बताया कि, उन्हें कोई लत नहीं है। वह दिमाग की मरीज हैं, लेकिन उन्हें एसजी फाउंडेशन में भर्ती करा दिया गया है।

हद तो तब हुई जब एक 82 वर्षीय महिला ने बताया कि, उन्हें तो घरवाले यहां जबरदस्ती भर्ती करा गए हैं। यहां पर किसी के इलाज की व्यवस्था नहीं की गई है।

Advertisements

जीवन ज्योति नशा मुक्ति केंद्र में छलक रहे थे जाम

दावा नशा छुड़ाने का किया जाता है, लेकिन जीवन ज्योति नाम के केंद्र में तो स्टाफ शराब का सेवन करते हुए पाया गया। पूछताछ के दौरान पता चला कि, वह दोनों बहुत नशे में हैं। नशा मुक्ति केंद्र में कैमरे तो लगे थे, लेकिन लाइट न होने के कारण सारे कैमरे बंद थे।

जीवन दा नशा मुक्ति केंद्र : जयादातर खामियां ही मिलीं। इस नशा मुक्ति केंद्र में न ही कैमरे, न ही स्टाफ का वेरिफिकेशन और कोई मेडिकल डॉक्टर विजिट पर भी समय पर नहीं आता।