देवस्थानम बोर्ड में होगा संशोधन। सीएम बोले, पंडा समाज के हक-हकूक से नहीं होंगे देंगे छेड़छाड़

देवस्थानम बोर्ड में होगा संशोधन। सीएम बोले, पंडा समाज के हक-हकूक से नहीं होंगे देंगे छेड़छाड़

 

त्रिवेंद्र सरकार के कार्यकाल में बने देवस्थानम बोर्ड पर तीर्थ पुरोहितों का विरोध लगातार जारी है। चारों धामो से जुड़े तीर्थ पुरोहित सहित पंडा समाज इस बोर्ड को भंग करने की अपनी मांग पर लगातार आंदोलनरत है।

इससे पूर्व के मुख्यमंत्री तीरथ ने भी इस बोर्ड पर पुनः विचार करने की बात कही थी, अब सूबे के नए मुखिया पुष्कर सिहं धामी ने आज इस बोर्ड में संशोधन की बात कही है और इसके लिए समिति गठन की बात कही है।

समिति की रिपोर्ट आने के बाद बोर्ड में संशोधन के अलावा इस से जुड़े अन्य फैसले लेने की बात कही है। अब देखने वाली बात होगी कि, पुरोहित समाज सरकार के इस फैसले से कितना संतुष्ट होता है।

त्रिवेंद्र सरकार के कार्यकाल में बने देव स्थानम बोर्ड पर बनने से लेकर अभी तक विवाद चला आ रहा है। कोर्ट में भी ये मामला लंबित है। इस सब के बाद भी इस पर तीर्थ पुरोहितों और पांडा समाज लगातार इस बोर्ड को भंग करने की मांग कर रहा है। तीर्थ पुरोहित लगातार सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं

Advertisements

इससे पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने भी इस बोर्ड को लेकर संशोधन की बात कही थी, लेकिन अब सूबे की कमान युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कंधों पर है और आज उन्होंने भी माना कि सरकार द्वारा बनाए गए इस बोर्ड में कुछ कमियां है, जिसमें कुछ संशोधन की जरूरत है। इसलिए सरकार अब देवस्थानम बोर्ड पर एक कमेटी गठित करेगी और उनकी रिपोर्ट के आधार पर इसमें संशोधन किया जाएगा तथा बोर्ड से जुड़े अन्य फैसले लिए जाएंगे।

पुष्कर सिंह धामी ने स्पष्ट किया कि, वह किसी भी हालत में तीर्थ पुरोहितों व पंडा समाज के हक हकूक से कोई भी छेड़छाड़ नहीं होने देंगे। काफी समय से तीर्थ पुरोहितों द्वारा इस बोर्ड को लेकर काफी कुछ संशोधन की बात सामने आ रही थी, क्योंकि कई चीजों से तीर्थ पुरोहित संतुष्ट नहीं है।

ऐसे में सरकार दोबारा से उनकी समस्याओं को ध्यान में रखकर इसमें संशोधन करेगी। बाकायदा इसके लिए एक कमेटी गठित की जाएगी, जो सभी पहलुओं पर बारीकी से विचार करेगी और उसके बाद अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपीगी, जिसके बाद बोर्ड से लेकर अन्य फैसले लिए जायेंगे।