कोरोना की जंग जितने के लिए पत्रकार भी कर रहे योगदान

कोरोना की जंग जितने के लिए पत्रकार भी कर रहे योगदान

 

रिपोर्ट- प्रकाश सिंह
देहरादून। पूरे देश भर में कोरोना वायरस covid-19 के कारण लॉकडाउन है। जिस वजह से निचले तबके के लोग बेसहाय, मजबूर व दिहाड़ी-मजदूरी करने वाले लोगों के सामने आमदनी का एक बड़ा संकट आ खड़ा हो गया है। जिसको देखते हुए व उस तबके की पीड़ा को समझते हुए उत्तराखंड राज्य में अपने-अपने स्तर पर सभी समाजसेवी संस्थाएं गरीब तबके के लोगों की सहायता करने में जुटी हुई है। संस्थाओं के साथ-साथ आमजन भी अपने-अपने स्तर से गरीब परिवारों को चिन्हित कर खाद्यान्न सामग्री व आवश्यक वस्तुएं वितरित करने में भागीदारी दें रहें हैं। इसके साथ ही मास्क और सेनेटाइजर भी वितरित कर लोगो को कोरोना के बारे में जानकारी व घर में रहने का सुझाव दिया जा रहा है।

एक और जहां राजनीतिक पार्टियां, संस्था, समिति व आमजन इस कार्य में जुटे हैं वहीं अब राज्य के पत्रकार भी इसमें अपना योगदान दे रहें है। बीते कुछ दिन पूर्व कुछ पत्रकारों द्वारा रक्तदान किया गया तो कुछ ने मास्क सेनेटाइजर वितरित किये। इसी क्रम में एक युवा पत्रकार बिजेंद्र राणा भी जुटा हुआ है। हाथ में थैला लेकर घर-घर जाकर लोगों से करोना की इस जंग के लिए खाद्यान्न व आवश्यक सामग्री इकट्ठा कर जरूरतमंदों को दे रहे है। युवा पत्रकार कोरोना की इस जंग को जितने के लिए अपने ही अंदाज में लड़ रहा है।

Advertisements
घरों से खाद्यान्न एकत्र कर पुलिस चौकी में देते युवा पत्रकार बिजेंद्र राणा
घरों से खाद्यान्न एकत्र कर पुलिस चौकी में देते युवा पत्रकार बिजेंद्र राणा

जब हमने इस बारे में बिजेंद्र से बात की तो उन्होंने कहा देश में करोना की महामारी जो इस वक्त फैली हुई इसमें सरकार अपने स्तर से कार्य कर रही है, और मैं अपने। मेरे द्वारा जिस भी तरीके से जितना हो सकेगा मैं इस संकट की घड़ी में अपना पूर्ण योगदान दूंगा। क्योंकि मैंने अपने आदरणीयों से यही सीखा है कि, पत्रकारिता महज कलम से लिखना नहीं होती बल्कि पत्रकार वो होता है जो अपने निहित स्वार्थ से ऊपर उठकर समाज की सेवा करे, जो मैं इस संकट की घड़ी में कर रहा हूँ। मैं सभी लोगों से यह भी अपील करता हूँ कि, इस समय पर जिस व्यक्ति से जो भी सहायता, सहयोग बने वो मजबूर लोगों के लिए करे।