किसानों का व्यवहारिक ज्ञान जानकर आश्चर्यचकित हुए छात्र

किसानों का व्यवहारिक ज्ञान जानकर आश्चर्यचकित हुए छात्र

 

– दून पीजी माया इंस्टिट्यूट तथा अल्पाइन इंस्टीट्यूट के छात्रों द्वारा लक्ष्मीपुर गांव में किया गया रूरल सर्वे

– किताबों और जमीनी हकीकत की खेती में फर्क: छात्र

देहरादून। नई दिशा जनहित ग्रामीण विकास समिति सहसपुर तथा यूनीफायर कृषि प्रशिक्षण केंद्र प्रेमनगर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित रूरल एग्रीकल्चर वर्क एक्सपीरियंस कार्यक्रम के तहत दून पीजी माया इंस्टिट्यूट तथा अल्पाइन इंस्टिट्यूट के बच्चों के द्वारा ग्राम लक्ष्मीपुर में रूरल सर्वे किया गया। सर्वे के दौरान छात्र-छात्राओं के द्वारा की गई जानकारी से ज्ञात हुआ कि, ग्रामीण किसानों को अपनी खेती के बारे में बहुत व्यवहारिक ज्ञान है। लेकिन उसकी अभिव्यक्ति उनके पास नहीं है।

Advertisements

सर्वे में किसानों द्वारा कहा गया कि, यदि समय-समय पर कृषक गोष्ठी की जाए तो उनकी जानकारी का भी विकास हो जाए। लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार की दी जाने वाली योजनाओं का प्रचार-प्रसार नहीं किया जाता। इसलिए किसान खेती किसानी से संबंधित सभी योजनाओं के बारे में जानकारी नहीं रखते हैं और इसी से उन्हें पूर्ण योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता। इस अवसर पर ग्राम प्रधान रूपा देवी ने कहा कि, छात्र-छात्राएं हमारे देश का भविष्य हैं। उन्हें निरंतर सीखने का प्रयास करके आगे बढ़ते रहना चाहिए।

नीरज राजपूत ने कहा कि, अपनी प्रतिभा का इस्तेमाल करके आप कुछ भी बन सकते हैं। बशर्ते आप उस कार्य को करने में अपना पूरा समय और तन मन धन लगा दें। पश्चिम बंगाल, लेह लद्दाख, जम्मू कश्मीर, नागालैंड, मिजोरम, मणिपुर, नेपाल, छत्तीसगढ़, अरुणाचल प्रदेश से आए छात्रों ने किया रूरल सर्वे। इस अवसर पर नई दिशा जनहित ग्रामीण विकास समिति के संस्थापक अमर सिंह कश्यप यूनीफायर के अमित उपाध्याय, अर्जुन सिंह, रोहित तथा पत्रकार आकाश नेगी ने भी बच्चों को संबोधित किया।