सिंचाईं विभाग ने कर डाला महाकुंभ के निर्माण कार्यों में करोड़ों रुपय का घोटाला

सिंचाईं विभाग ने कर डाला महाकुंभ के निर्माण कार्यों में करोड़ों रुपय का घोटाला

 

– कांग्रेस ने लगाया आरोप, साथ ही मुख्य सचिव से मुलाकात कर की सीबीआई जाँच की माँग

देहरादून। हरिद्वार जनपद में महाकुंभ 2021 का आयोजन होने जा रहा है। जिसके अंतर्गत सिंचाई विभाग द्वारा उत्तराखंड के कांवड़ पटरी मार्ग के पंद्रह करोड़ रुपये से अधिक के कार्यों की निविदाएं नियम विरुद्ध अपात्र लोगों को आवंटित किए जाने के मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना के नेतृत्व में कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह से मुलाकात कर इस संबंध में ज्ञापन सौंपा है।

Advertisements
सिचाई विभाग पर करोड़ो रूपये घोटाले का आरोप
 मुख्य सचिव उत्पल कुमार से वार्ता करते हुए कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल

कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने मुख्यसचिव से कहा कि, उत्तराखंड सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता शरद श्रीवास्तव, अधिशासी अभियंता पुरषोत्तम कुमार, अधिशासी अभियंता, अत्तर सिंह बिष्ट द्वारा नहर कांवड़ पटरी के चौड़ीकरण के कार्य जो कि, लगभग 15 करोड़ रुपये की लागत के हैं। उनको नियम विरुद्ध उन लोगों को आवंटित कर दिया जो कि, तकनीकी बिड में न तो क्वालिफाइड थे और न ही मानकों में उनकी टर्नओवर टेंडर की शर्तों के अनुरूप थी।

धस्माना ने यह भी कहा कि, इस प्रकार की सात निविदाओं में अधिकारियों द्वारा अपात्र लोगों को कार्य आवंटित कर दिए गए, जबकि जो पात्र थे उनको तकनीकी बिड क्वालीफाईड होने के बावजूद बाहर कर दिया गया आखिर क्यों? साथ ही उक्त अधिकारियों ने न केवल गलत लोगों को कार्य आवंटित किया, बल्कि सरकार के भी करोड़ों रुपए के राजस्व का नुकसान किया है। इसलिए उनके विरूद्ध आपराधिक मामला दर्ज कर कार्यवाही की जाय।