Exclusive: आजाद हिंदुस्तान के सबसे निकृष्ट सीएम हैं त्रिवेन्द्र रावत

आजाद हिंदुस्तान के सबसे निकृष्ट सीएम हैं त्रिवेन्द्र रावत

 

त्रिवेंद्र को सर्वश्रेष्ठ सीएम का सम्मान दिया जाना सदी का सबसे बड़ा मजाक
– सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर लीडरशिप समिट में अवार्ड दिया जाना है प्रस्तावित
– घोटालों के मास्टरमाइंड व निकम्मे पन के मामले में दिया जाना चाहिए अवार्ड

देहरादून। विकासनगर स्तिथ जनसंघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने बयान जारी कर कहा कि, सोशल मीडिया में प्रचारित आगामी 26 दिसंबर को सिक्स सिग्मा लीडरशिप समिट कार्यक्रम में उक्त संस्था द्वारा प्रस्तावित सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को देश का सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री का अवार्ड किया जाना प्रदेश की जनता के साथ बहुत बड़ा धोखा है, तथा सदी का सबसे बड़ा मजाक (जोक) है, जिसकी मोर्चा घोर निंदा करता है।

ढेचा, खनन, शराब, पत्नी के नाम काली संपत्ति, झूठे शपथ पत्र, किसानों व व्यापारियों द्वारा की गई आत्महत्या, घोटाले, कर्मचारियों/आमजन के दुश्मन, मा० हाईकोर्ट द्वारा दुत्कारे जा चुके, जहरीली शराब से हुई मौतों, प्रदेश में जंगलराज, डेंगू के कातिल, 108 सेवा कर्मचारियों की रोटी छीनने वाले, अघोषित संपत्ति आदि मामलों में लगे हैं सीएम त्रिवेन्द्र पर दाग

Advertisements

मोर्चा अध्यक्ष रघुनाथ ने कहा कि, जिस प्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ ढेंचा बीज घोटाला, शराब, खनन, पत्नी की काली संपत्ति, झूठे शपथ पत्र, व्यापारियों व किसानो की आत्महत्या का पाप, डेंगू के क़ातिल, दर्जनों घोटाले, कर्मचारियों/ आमजन के दुश्मन, मा.हाईकोर्ट द्वारा फटकारे जा चुके, 108 सेवा कर्मचारियों की रोटी छीनने वाले, जहरीली शराब से हुई मौतों के कातिल, अघोषित काली संपत्ति, कानून व्यवस्था संभालने में नाकाम आदि तमाम दाग लगे हो उस निकृष्ट व्यक्ति को सर्वोच्च मुख्यमंत्री का अवार्ड देना प्रदेश की जनता के साथ बहुत बड़ा धोखा एवं अन्याय है।

नेगी ने कहा कि, एक ऐसा मुख्यमंत्री, जो हर मोर्चे पर विफल साबित हो चुके हो तथा प्रदेश की जनता, युवा, बेरोजगार, व्यापारी तिल-तिल मरने को मजबूर हो, सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि, कितने सफल मुख्यमंत्री हैं। मोर्चा, सीएम त्रिवेंद्र व संस्था के संबंधों की जांच की मांग करता है।