शहर के सौंदर्यीकरण पर कलंक रिस्पना टैक्सी स्टैंड

शहर के सौंदर्यीकरण पर कलंक रिस्पना टैक्सी स्टैंड

 

– क्षेत्रीय विधायक व सरकार बने मूकदर्शक….

देहरादून। एक ओर जहां सरकार रिस्पना नदी को पुनर्जीवित करने व ग्रीन बेल्ट बनाने की बात कहती है,वहीं दूसरी ओर ठीक सरकार की नाक के नीचे यानी विधानसभा के पास रिस्पना नदी में टैक्सी स्टैंड जनता का सिरदर्द बना हुआ है।

 

इस टैक्सी स्टैंड से रिस्पना नदी का सौंदर्यकरण तो बिगड़ ही रहा है, साथ ही साथ विधानसभा चौक में टैक्सी स्टैंड के वजह से हमेशा जाम जैसी स्थिति बनी रहती है। टैक्सी स्टैंड हाईवे में होने की वजह से पैसेंजर अधिकतर सड़कों पर खड़े रहते हैं, और आए दिन यहां दुर्घटनाएं भी होती रहती है।

Advertisements

 

हालांकि विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल इस समस्या को विधानसभा बैठक के दौरान रख चुके हैं। मगर इसके बाद भी अभी तक शासन की तरफ से इस टैक्सी स्टैंड को शिफ्ट करने के बारे में कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। लोगों द्वारा कई बार इसकी शिकायत एसपी ट्रेफिक, नगर निगम व सीनियर पुलिस प्रशासन को कर चुके है। मगर इसके बावजूद भी टैक्सी स्टैंड को शिफ्ट करने के बारे में अभी तक कोई शासनादेश जारी नही हुआ।

 

लगातार टैक्सी स्टैंड से हो रही गंदगी का सामना रिस्पना नदी को करना पड़ता है। पानी में गंदगी होने के कारण आसपास के क्षेत्रों में डेंगू मच्छर भी इससे खूब पनप रहे हैं, पर फिर भी सरकार का इस ओर अभी तक कोई ध्यान नहीं गया है। आखिर कब जनता को इस जाम व आए दिन होने वाली दुर्घटनाओं से छुटकारा मिल पाएगा।

 

वंही दूसरी ओर अजपुर फाटक में बने फ्लाईओवर के नीचे खूब प्राइवेट पार्किंग हो रही है। आसपास में बने होटलों के लिए वहां फ्री पार्किंग सुविधा मुहैया कराई जा रही है। मगर अपने टेक्सी स्टैंडों पर कोई ध्यान नही दिया जा रहा। जिससे सरकार को रॉयल्टी व पब्लिक फेसिलिटी मिलती है।