हिन्दू समाज पार्टी के नेता की हत्या, आईएसआईएस ने दी थी मारने की धमकी

हिन्दू समाज पार्टी के नेता की हत्या, आईएसआईएस ने दी थी मारने की धमकी

 

देहरादून। राजधानी लखनऊ के खुर्शीदबाग इलाके में रहने वाले हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार दोपहर उन्हीं के घर पर दो बदमाशों ने चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि, हत्यारे मिठाई के डिब्बे में चाकू और तमंचा लेकर आए थे। शरीर में चाकू से 15 से अधिक वार किये है। घायल अवस्था में परिजनों ने तिवारी को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी उपचार के दौरान मौत हो गई। हत्या की वजह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाई है।

 

बताते चलें कि, पुलिस टीम सेलफोन की डिटेल खंगालने के साथ ही सर्विलांस की मदद से आरोपी की तलाश में जुट गई है। दो लोगों ने पहले कमरे में चाय पी और फिर मिठाई के डिब्बे से कट्टा निकालकर फायर भी किया। इसके बाद तिवारी को गंभीर हालत में ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था। कमलेश तिवारी हत्याकांड से लोगों में आक्रोश फैल गया है। कमलेश के समर्थक खुर्शीदबाग कॉलोनी में प्रदर्शन कर रहे हैं। घटनास्थल पर बड़ी संख्या में पुलिस बल व पीएसी की तैनाती की गई है।

 

 

कमलेश तिवारी हत्याकांड में पुलिस को अहम सुराग मिला है। वारदात को अंजाम देने वाले संदिग्ध कातिल सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए हैं। हुलिए के आधार पर आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस जल्द ही इस मामले में खुलासे का दावा कर रही है। एसएसपी कलानिधि नैथानी के निर्देश पर पुलिस की कई टीमें आरोपियों की सरगर्मी से तलाश में जुट गई हैं।

Advertisements

 

पैगंबर साहब पर टिप्पणी की वजह से कमलेश पर रासुका भी लग चुका है। उस समय एक मुस्लिम संगठन ने सर कलम करने का फतवा भी जारी किया था। बिजनौर के उलेमा अनवारुल हक और मुफ्ती नईम कासमी पर कमलेश तिवारी का सिर कलम करने का फतवा जारी करने का आरोप लगा था। कमलेश तिवारी की हत्या में सामने आया आईएसआईएस का हाथ पुलिस की छानबीन में कमलेश तिवारी की हत्या में आतंकी संगठन आईएसआईएस का हाथ होने की बात सामने आई है। बताया गया कि, 16 अक्टूबर से सूरत के उद्योगनगरी से बदमाशों ने मिठाई खरीदी और उसी के डिब्बे में असला लाये थे।

 

 

पाठको को यह भी बतादें की, आईएसआईएस ने कमलेश को मारने की धमकी दी थी। गुजरात में पकडे गये आतंकियों ने एटीएस को ये जानकारी दी थी। जिसकी एटीएस ने रिपोर्ट बनाकर सरकार को भी दी थी। वहीं कमलेश ने कुछ दिन पहले खुद को सुरक्षा न मिलने पर ट्वीट किया था। जिसमें उसने सुरक्षा न दिए जाने पर सवाल उठाये थे। उस ट्वीट में उसने पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह व सीएम योगी को टैग किया था।